आपदा में अवसर तलाशते हुए जीवन रक्षक इन्जेक्शन की कालाबाजारी,छःपहुंचे जेल



देश में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। इस महामारी के बीच रेमडेसिवीर (Remdesivir) इंजेक्शन की मांग तेजी से बढ़ी है। बढ़ती मांग के बीच कोरोना मरीजों को लगने वाला रेमडेसिवीर (Remdesivir) इंजेक्शन की कालाबाजारी भी शुरू हो गई है। इस इंजेक्शन को अंकित मूल्य से काफी ज्यादा मूल्यों पर धड़ल्ले से बेचा जा रहा है। ऐसे ही इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले गैंग का खुलासा लखनऊ पुलिस ने करते हुए चार को धर दबोचा है। 
आपको बता दें कि लखनऊ के नाका इलाके में पुलिस ने रेमडेसिवीर (Remdesivir) इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को इनके पास से 116 रेमेडेसिवर इंजेक्शन,1 लाख 94 हज़ार रुपए, 4 अदद मोबाइल फोन और तीन मोटर साइकिल भी बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि ये चारों अभियुक्त रेमडेसिवीर (Remdesivir) इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहे थे। उन्हें अंकित मूल्यों से काफी ज्यादा मूल्यों में बेच रहे थे। 
इतना ही नहीं दूसरी ओर लखनऊ के अमीनाबाद पुलिस ने नसीराबाद चौकी के पास से दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से 11 अदद रेमडेसिवीर (Remdesivir) इंजेक्शन और 39,000 रुपए बरामद किए है। पुलिस ने बरामदी व गिरफ्तारी के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्यवाही कर रही है।  
बताते चलें कि लखनऊ में वर्तमान समय में कोविड-19 महामारी चल रही है। इस महामारी में पीड़ित लोगों को लगने वाले रेमडेसिवीर (Remdesivir) इंजेक्शन को अंकित मूल्य से काफी ज्यादा मूल्यों में बेची जाने का कई गैंग सक्रिय होकर कार्य कर रहे हैं। रेमडेसिवीर (Remdesivir) इंजेक्शन की कालाबाजारी की रोकथाम के लिए पुलिस आयुक्त कमिश्नरेट लखनऊ में ऐसे गैंगो को चिन्हित कर पकड़ने हेतु निर्देश दिए हैं, जिसके बाद पुलिस एक के बाद एक गैंग का पर्दाफाश कर रही हैं।
सूत्रों की मानें तो कालाबाजारी का यह खेल लखनऊ तक ही सीमित नहीं है आपदा में अवसर तलाशते हुए जिलों में भी इस जीवन रक्षक इन्जेक्शन की कालाबाजारी करके धनोपार्जन किया जा रहा है।लखनऊ की पुलिस सक्रिय हुईं तो कालाबाजारी करने वाले पुलिस की गिरफ्त में आये जिले में अभियान चले तो सायद मरीजों के उपचार में सुविधा संभव होगी। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

मनीष हत्याकांड का आरोपी 01लाख रुपए का इनामी, जौनपुर निवासी दरोगा विजय यादव हुआ गिरफ्तार, एसआईटी की पूंछताछ जारी