शराब माफिया ओमप्रकाश जायसवाल के यहां तीसरे दिन भी आय कर विभाग द्वारा अभिलेखों की छानबीन जारी


जौनपुर। भाजपा नेता एवं शराब माफिया ओमप्रकाश जायसवाल के यहां शाहगंज सहित तमाम व्यापारिक प्रतिष्ठानो ठिकानो पर आय कर विभाग के अधिकारी आईआरएस राजेश सिंह, जेपी चौबे एवं आर एम श्रीवास्तव के नेतृत्व में चल रही आय कर विभाग की छापामारी के तहत तीसरे दिन भी अभिलेखों को खंगालने का काम आय कर विभाग के अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। यह छापामारी विगत 22 जुलाई 21 से सुबह लगभग 08 बजे दिन से अनवरत चल रही है इस छापामारी में लगभग 25 वाहनो में सवार आय कर विभाग के अधिकारी सभी प्रतिष्ठानों पर एक साथ छापामारी शुरू किये ताकि कहीं कोई कुछ छिपा न सके। वहीं अधिकारी लगातार मीडिया से दूरी बनाये हुए है। आय कर के इस छापामारी से जौनपुर सहित आस पास जनपदों के बड़े कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है।  
बतादे कि छापामारी के दूसरे दिन आय कर विभाग की टीम ने शराब माफिया के सभी कारोबार की पत्रावलियों को खंगालने के साथ ही घर के सदस्यों और कर्मचारियों से अलग अलग पूछताछ करती रही। खबर है कि शराब माफिया ओमप्रकाश जायसवाल के निजी आवास से लेकर होटल, आटा फैक्ट्री, फार्म हाउस आदि सभी ठिकाने को तीन दिन से अपने कब्जे में ले रखा है। यहां तक कि आटा फैक्ट्री में कार्यरत लगभग 50 कर्मचारी भी आय कर अधिकारियों के हिरासत में होने के कारण फैक्ट्री  से बाहर नहीं निकल सके है। आय कर विभाग की टीम दिन रात लेखा जोखा जुटाने के साथ ही जायसवाल परिवार के महिला पुरुष सदस्यो सहित बच्चों से अलग-अलग पूछताछ कर सच का पता लगाने में जुटी है।
यहां यह भी बता दें कि जनपद जौनपुर में आय कर विभाग की सबसे बड़ी छापामारी की कार्यवाही इस शराब माफिया के यहां हो रही है। इस छापामारी से काले धन्धे के जरिए अकूत धनोपार्जन करने वाले सभी व्यापारी सकते में आ गये है। हलांकि अधिकारी अधिकृत रूप से अभी तक कुछ बयान जारी करने से परहेज करते भले ही नजर आये लेकिन अधिकारियों की गम्भीरता एवं छापामारी में लम्बी छानबीन इतना तो संकेत कर रही है कि इस शराब के कारोबारी ने सैकड़ो करोड़ रूपये टैक्स की चोरी किया है। अब तो पूरी जांच के बाद ही असली सच सामने आयेगा। लेकिन शराब माफिया ओमप्रकाश जायसवाल आय कर विभाग की इस छापामार कार्यवाई के पीछ अपने विरोधियों का षडयंत्र मान रहे है। सूत्र ने बताया कि आय कर अधिकारियों से कुछ समय मुक्त होने पर ओमप्रकाश जायसवाल ने मीडिया को इस तरह की सूचना दिया।उनका कथन है कि  मैं जनपद का प्रगतिशील विचारधारा का बिजनेसमैन हूं। विरोधी हैं तो साजिश करेंगे ही, उन्हें मैं उचित मंच और उचित समय पर जवाब दूंगा। मैं संवैधानिक आदमी हूं और संविधान एक्ट का पालन करता हूं।भारत सरकार का जो टैक्स कलेक्शन का नियम है, वह जनता के हित के लिए है। मैं इसकी पूरी जानकारी विस्तार से सभी को दूंगा। यह भी बताऊंगा क्या-क्या अधिकारियों से बातें हुईं।

 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

आइए जानते है मुन्ना बजरंगी के भाई को पुलिस ने क्यों किया गिरफ्तार