आरक्षण मुद्दे को लेकर निषाद समाज का प्रदर्शन,पुलिस से नोक-झोंक,फिर जन सभा


जौनपुर। सर्वदलीय निषाद, कश्यप यूनियन के बैनर तले निषाद समाज की पदयात्रा युवा नेता कुंवर सिंह निषाद के नेतृत्व में मथुरा से प्रारंभ होकर आगरा, फिरोजाबाद, ईटावा, औरैया, कानपुर, जालौन, हमीरपुर, बाँदा, चित्रकूट, फतेहपुर, कौशाम्बी, इलाहाबाद, मिर्जापुर, भदोही होते हुए आज जौनपुर पहुँची। 
यात्रा का मुख्य उद्देश्य निषाद बिंद समाज को अनुसूचित जाति आरक्षण दिलाना है। जिले में पदयात्रा की शुरुआत सद्भावना पुल से हुई जहाँ पुलिस प्रशासन द्वारा रोकने का प्रयास किया गया यात्रा को बल पूर्वक यात्रा को रोका गया जिसके बाद निषाद कश्यप बिंद सड़क जाम कर धरना दे दिया ततपश्चात समाज के मनोबल और संख्या बल को देखते हुए जल्द ही पुलिस प्रशासन ने अपने कदम वापस खींच लिए। विशाल जुलूस नारे लगाता हुआ अम्बेडकर तिराहे पर पहुँचकर सभा मे परिवर्तित हो गया। सभा को संबोधित करते हुए कुंवर सिंह निषाद  ने कहा कि अनुसूचित जाति आरक्षण को लेकर निषाद कश्यप मछुआरा समाज लंबे समय से आंदोलनरत है। भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में भी इसे दर्ज किया था। परंतु 4 वर्ष से ज्यादा समय बीत गया सरकार आरक्षण देने में आनाकानी कर रही हैं। 
अपने सम्बोधन में धर्मेंद्र निषाद ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार द्वारा समाज को आरक्षण देने की घोषणा करने के पश्चात भी जमीनी स्तर पर इस पर कोई अमल होता नही दिख रहा है। ऐसा लगता है कि सरकार की मंशा आरक्षण को मूर्त रूप देने की नहीं है। 
निषाद समाज के नेताओ ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि हमारी मांग नही मानी गई तो निषाद बिंद समाज आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने में पूरी ताकत झोंक देगा।
इस मौके पर युवा नेता पुष्पेंद्र निषाद, प्रभाकर निषाद, प्रमोद निषाद, अपलेश्वर निषाद, इंद्रजीत निषाद, संजय नाथ निषाद, शिवम नाविक, विश्वजीत, रितेश बिंद, नेहाल निषाद, प्रेमदेवी, नंदलाल, सूरज चौधरी, भवनेश, डेविड चौधरी, जिलाजीत निषाद, मिंटू निषाद, रामचंद्र बिंद, भानु निषाद, सुरेंद्र बिंद आदि बड़ी संख्या में निषाद उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार

मारपीट की घटना को विधायक एवं उनके समर्थको पर लूट तक का मुकदमा हुआ दर्ज