पेशी के समय जज से मुख्तार अंसारी ने सरकार से अपनी जान को बताया खतरा जहर देकर मारने की साजिश का लगाया आरोप


जेल में बंद बाहुबली मुख्तार अंसारी ने पेशी के दौरान जज के समक्ष योगी सरकार पर खुद को खाने में जहर देकर हत्या करवाने की साजिश रचने का आरोप लगाया है। बृहस्पतिवार को बाराबंकी में एमपी, एमएलए कोर्ट से हुई वर्चुअल पेशी में मुख्तार ने यह आरोप लगाया है। मुख्तार ने उच्च श्रेणी सुविधा देने की भी मांग की है। मामले में अगली सुनवाई की तिथि सात अक्टूबर तय की गई है। 
बृहस्पतिवार को एमपी-एमएलए कोर्ट के जज कमलकांत श्रीवास्तव के सामने वर्चुवल सुनवाई शुरू हुई तो मुख्तार अंसारी के अधिवक्ता रणधीर सिंह सुमन ने जेल मैनुअल पैरा - 287 के तहत उच्च श्रेणी मुहैया कराने की अर्जी दी। बांदा जेल से वर्चुअल पेश हुए मुख्तार अंसारी ने कोर्ट से कहा कि विधायक होने के नाते मुझे उच्च श्रेणी मुहैया करवा दीजिए। वैसे भी मुझसे राज्य सरकार नाराज है, खाने में जहर मिलवा कर दिया सकती है। मुख्तार अंसारी ने कहा कि अगर उसे जेल में उच्च श्रेणी मिल जाती है तो उसके मन से डर खत्म हो जाएगा।
मुख्तार के अधिवक्ता ने बताया कि जेल मैनुअल की पैरा -287 के तहत उच्च श्रेणी मुहैया करवाने की अर्जी दी थी। उन्होंने बताया कि मुख्तार को उच्च श्रेणी देने के मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख सात अक्टूबर तय की गई है। अधिवक्ता ने बताया कि जज कमलकांत श्रीवास्तव ने कहा है कि वो इस मामले में जल्द ही फैसला लेंगे।
बाराबंकी के एआरटीओ कार्यालय में फर्जी प्रपत्र के आधार पर पंजीकृत एंबुलेंस के मामले में बीते दो अप्रैल को शहर कोतवाली में केस दर्ज किया गया था। पंजाब में पेशी के दौरान एंबुलेंस इस्तेमाल करने का मामला सामने आने पर यह कार्रवाई हुई थी। इसमें मऊ जिले की चिकित्सक समेत आठ लोग जेल जा चुके है। जबकि केस में मुख्तार अंसारी भी आरोपी है। इसी के चलते यहां से वर्चुअल माध्यम से मुख्तार की लगातार पेशी हो रही है। इससे पहले भी कई बार मुख्तार पेशी के दौरान खुद की जान का खतरा जता चुका है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

विधायक और सपा नेता के बीच मारपीट की घटना का जानें सच है क्या,आखिर जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार