नैक मूल्यांकन के सभी बिंदुओं पर टीम करें मंथन : कुलपति प्रो निर्मला एस.मौर्य


कैरिकुलम डिजाइन डेवलपमेंट पर जोर दें: डॉ स्वाति पालीवाल


जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति सभागार में नैक तैयारी को लेकर मंगलवार को एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। यह कार्यशाला वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय आईक्यूएसी सेल और चेन्नई के गुरु नानक कॉलेज के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित हुआ।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर‌ निर्मला एस. मौर्य ‌ने विश्वविद्यालय की तैयारियों के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि हमारी आईक्यूएसी टीम पूरी तरह से अच्छे ग्रेड की तैयारी कर रही है। इसके लिए संकाय स्तर पर नैक समन्वयक बनाए गए हैं। नैक मूल्यांकन के सभी बिंदुओं पर टीम गंभीरता से तैयारी करे।
इस अवसर पर‌ चेन्नई के गुरुनानक कालेज‌ के डीन स्कूल आफ‌ लैंग्वेज और आईक्यूएसी की समन्वयक डॉ. स्वाति पालीवाल ने कहा कि नैक में अच्छे ग्रेड लाने के लिए हमें कंफोर्ट जोन से बाहर निकलना होगा। नैक में अच्छी ग्रेडिंग से विश्वविद्यालय का ही नहीं वहां के शिक्षक और विद्यार्थी का भी स्तर बढ़ता है। साथ ही साथ विश्वविद्यालय को ग्रांट और शिक्षकों को प्रोजेक्ट मिलने में भी सहूलियत होती है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में एचईआई पोर्टल का होना जरूरी है। कौन सी सूचना जानी चाहिए कौन सी नहीं इस पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। हमें कैरीकुलम डिजाइन डेवलपमेंट पर ठीक ढंग से काम करना होगा। उन्होंने नैक की तैयारियां के विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार से प्रकाश डाला।
विश्वविद्यालय आईक्यूएसी के समन्वयक प्रो. मानस पांडेय ने कहा कि विश्वविद्यालय नैक मूल्यांकन के सभी बिंदुओं पर गंभीरता से काम कर रहा है हमारी कोशिश है कि हम ए प्लस की ओर बढ़ें।
 संचालन डॉ.मनोज पांडेय और धन्यवाद ज्ञापन डॉ. धर्मेंद्र सिंह ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव महेंद्र कुमार वित्त अधिकारी संजय राय प्रो.वंदना राय, प्रो. अजय द्विवेदी, प्रो. अशोक श्रीवास्तव, प्रो. देवराज सिंह, सहायक कुलसचिव बबीता सिंह, डॉ प्रदीप कुमार, डॉ.संतोष कुमार, डॉ. रजनीश भास्कर, डॉ. प्रमोद यादव, डॉ.रसिकेश, डॉ. गिरधर मिश्र, डॉ.जाह्नवी श्रीवास्तव, डॉ.सुनील कुमार, डॉ. अमरेंद्र सिंह, डॉ. मंगला यादव, डॉ.अवध बिहारी सिंह, डॉ अन्नू त्यागी, डॉ. सुशील कुमार आदि उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन