रूस-युक्रेन युद्ध की आंच पूर्वांचल के उद्योग जगत पर, जानें क्या है असर


रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध की स्थिति बनने के साथ ही पूर्वांचल के उद्योगों को 200 करेाड़ रुपये का झटका लग गया है। तनाव की स्थिति के चलते पिछले 15 दिन से ज्यादा समय से आर्डर रूके थे और युद्ध की घोषणा के साथ ही आर्डर कैंसल होने शुरू हो गए है।
ऐसे में यहां के कारपेट, वाल हैंगिग, दरी, बनारसी साड़ी, हैंडीक्राफ्ट, गुलाबी मीनाकारी, लकड़ी के खिलौने आदि अमेरिका, रुस सहित अन्य देशों में भेजे जाते हैं। पूर्वांचल एक्सपोर्ट संघ के पूर्व अध्यक्ष राजीव अग्रवाल का कहना है कि युद्ध शुरू होने के साथ ही डालर और आयल की कीमतों पर असर दिखने लगा है।
ज्यादातर निर्यात के आर्डर रोक दिए गए हैं और 25 फीसदी से ज्यादा आर्डर कैंसल होने की आशंका है। फरवरी और मार्च ही निर्यात के आर्डर का मुख्य समय होता है। पूर्वांचल एक्सपोर्ट संघ के पूर्व अध्यक्ष जुनैद खान ने बताया कि करीब 200 करोड़ के आर्डर रद्द हो गया हैं। इस युद्ध का कई देशों पर असर पड़ेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन