जेल में बवाल: बंदी की मौत के बाद भड़के कैदियों ने मचाया उत्पात, कई थानों की फोर्स पहुंची


जनपद वाराणसी के चौकाघाट स्थित जिला जेल में आज शुक्रवार की सुबह बंदी की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत होने की खबर से क्षुब्ध बंदियों और कैदियों ने जमकर बवाल किया। जेल में हंगामे की सूचना पर कई थानों की फोर्स पहुंच गई। जेल डीआईजी सहित तमाम बड़े अधिकारी जिला जेल पहुंचे। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। बंदियों द्वारा पथराव की खबर है। जेल अस्पताल के एम्बुलेंस समेत कई वाहनों में तोड़फोड़ की गई है। किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। 
वाराणसी जिला जेल की चहारदीवारी के भीतर का माहौल अचानक अशांत हो उठा।  बताया जा रहा है कि शुक्रवार तड़के जिला जेल में 56 वर्षीय बंदी राकेश को दिल का दौरा पड़ा। उसे उपचार के लिए कबीरचौरा अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
सुरक्षाकर्मियों के साथ नोकझोंक और दुर्व्यवहार
बंदी की मौत की सूचना पर जेल के अन्य बंदियों ने तोड़फोड़ शुरू कर दिया। इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर जेल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। हंगामा कर रहे बंदियों को शांत कराने गए सुरक्षाकर्मियों के साथ नोकझोंक और दुर्व्यवहार के बाद आनन-फानन में पगली घंटी बजाई गई।
घंटी की आवाज सुनाई देते ही जेल कर्मियों और जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन फानन कई थानों की फोर्स को जिला जेल भेजा गया। जेल पुलिस के साथ कई वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे तब हालात काबू में आए।  इसके चलते दो घंटे तक जिला जेल में अफरा-तफरी की स्थिति रही।हंगामा कर रहे बंदियों को अलग-अलग बैरकों में शिफ्ट कर उनकी निगहबानी बढ़ा दी गई है। साथ ही कैंट, सारनाथ और शिवपुर थाने को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। जिला जेल में हुए बंदियों के बवाल ने सेंट्रल जेल प्रशासन की नींद उड़ा दी है। अधिकारियों के साथ बी बंदीरक्षक भी अलर्ट मोड में आ गए हैं। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन