यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर केन्द्र व्यवस्थापको के साथ डीएम की बैठक, दिया यह कड़ा निर्देश


जौनपुर। यूपी बोर्ड की चल रही परीक्षाओं को नकल विहीन एवं पारदर्शितापूर्ण सम्पन्न कराने के उद्देश्य से जिला मजिस्ट्रेट मनीष कुमार वर्मा ने कलेक्ट्रेट प्रेक्षागृह में जनपद के समस्त केंद्र व्यवस्थापकों के साथ बैठक किया।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि परीक्षा को नकल विहीन कराना हम सब की जिम्मेदारी है।   उन्होंने कहा कि पेपर डबल लॉक की अलमारी में रखा जाय। डबल लॉक की अलमारी चौबीस घण्टे सी०सी०टी०वी० की निगरानी में रहेगी। कैमरे के बाहर वाले लॉक को लाक लगाकर सील करने तथा अलमारी तथा कक्ष को खोलने बन्द करने के समय व अधिकारियों के नाम अंकित कर रजिस्टर में अंकित करने के निर्देश दिए। कक्ष निरीक्षक/परीक्षार्थियों की उपस्थिति ससमय ऑनलाइन अपलोड करनी है।
उत्तर पुस्तिकाओं को संकलन केन्द्र तक पुलिस की अभिरक्षा में ले जाने के निर्देश दिए तथा परीक्षा खत्म होने पर उत्तर पुस्तिका को लाने के लिए साथ में एक पुलिस अभिरक्षा रहने का निर्देश दिया। डबल लॉक का रूम 24×7 सी०सी०टी०वी की निगरानी में रहेगा। अलग-अलग तिथि के प्रश्न पत्रों हेतु अलग-अलग अलमारियों की व्यवस्था करने तथा प्रश्नपत्र सैक्टर/स्टेटिक मजिस्ट्रेट की निगरानी में खोले एवं बन्द कराना सुनिश्चित करें। परीक्षा केन्द्र पर डबल लॉक की अलमारी वाला कक्ष तथा उस कक्ष के बाहर का सी०सी०टी०वी० कैमरा 24×7 प्रत्येक दशा में ऑनलाइन रहेंगे।


उन्होंने कहा कि पेपर कहीं से लीक न होने पाये, जहाँ पर प्रश्नपत्र रखे जा रहे है वहाँ की निगरानी भी अच्छी तरह से की जाये तथा एक दिन का पेपर अलग अलमारी में रखा जाये। उन्होंने केन्द्र व्यवस्थापको को निर्देशित किया कि परीक्षा में किसी प्रकार की गड़बडी करने वाले के विरुद्ध एवं कोई भी संदिग्ध व्यक्ति परीक्षा केन्द्र पर दिखाई दे तो उसके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।
 इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 रामप्रकाश, अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व राजनीश राय, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शैलेन्द्र कुमार सिंह सिंह, जिला सूचना अधिकारी मनोकामना राय, जिला विद्यालय निरीक्षक राजकुमार पण्डित, केन्द्र व्यस्थापक उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन