सेन्ट प्रैक्टिस स्कूल के प्रधानाचार्य और प्रबन्धन को नोटिस, क्या स्कूल भवन पर प्रशासन चला पायेगा बुलडोजर


जौनपुर। अब इंग्लिश मीडियम स्कूल सेन्ट प्रैक्टिस प्रशासनिक कार्यवाई की जद में आ गया है। विद्यालय भवन की जमीन को लेकर स्कूल प्रबन्धन को नोटिस जारी कर दी गयी है। शहर स्थित पचहटिया में स्थित सेण्ट पैट्रिक स्कूल का बिना बैनामे की जमीन पर किये गये निर्माण के शिकायत कर्ता के आवेदन पत्र को गंभीरता से लेते हुए कार्यवाही के पहल में नगर मजिस्ट्रेट ने स्कूल के प्रधानाचार्य एवं प्रबंधक को पत्र लिखकर विद्यालय संचालन, भौमिक अधिकार तथा विद्यालय भूमि पर मालिकाना हक से स्म्बन्धित अभिलेख के साथ उपस्थित होने का आदेश जारी किया।
इस पर विद्यालय की ओर से प्रार्थना देकर दो सप्ताह में उक्त कागजात को प्रस्तुत करने का निवेदन किया गया तो उन्हे उक्त अवधि की मोहलत प्रदान की गयी है। उक्त ओदश से विद्यालय प्रबन्धन में खलबली मच गयी है। यहां बता दें कि सिटी मजिस्ट्रेट के यहां शिकायत किये जाने पर सम्बन्धित लेखपाल ने अपनी आख्या में उक्त स्कूल के आराजी नम्बर 8,7,6 कब्रिस्तान की भूमि पर कब्जा कर बना लिये जाने का उल्लेख है।
इसमें ग्राम पचहटिया के चकमार्ग व खेल के मैदान पर कब्जा करना तथा खतौनी में स्कूल के नाम से कोई भूमि दर्ज न होना भी बताया गया है। कहा गया है कि इसके बावजूद मान्यता प्राप्त कर स्कूल का संचालन किया जा रहा है।
ज्ञात हो कि बीते 25 अप्रैल को नगर मजिस्ट्रेट के यहां शिकायताकर्ता द्वारा पूरे प्रकरण की जांच कराकर उचित कार्यवाही करने की मांग किया था। इसके पहले उपजिलाधिकारी के यहां की गयी शिकायत पर लेखपाल ने जांच कर आरोप को सही बताते हुए स्कूल भवन अवैध ठहराते हुए नगर पालिका को पत्र लिखकर ध्वस्तीकरण कराने का अनुरोध किया था।
अब देखना है कि कब्रिस्तान, चक मार्ग और खेल के मैदान पर अवैध कब्जा कर बने स्कूल सेण्ट पैट्रिक  पर प्रदेश सरकार के उस आदेश का पालन प्रशासन कब और कैसे कराता है जबकि जनपद में यही सरकारी तंत्र सरकारी और गैर सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जा करने वालों पर बुलडोजर का कहर बरपाया जा रहा है। मजेदार बात यह भी है कि इस सेन्ट प्रैक्टिस स्कूल में तमाम जिला प्रशासन के अधिकारियों के बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे है। यह इसाई मिशिनरी का स्कूल है। बुलडोजर की खनक होते ही पूरे देश की इसाई मिशनरी के लोग हरकत में आ सकते है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

सरकार ने प्रदेश के इन 12 आईपीएस अधिकारियों का किया तबादला