आजमगढ़ से सपा ने धर्मेंद्र सिंह यादव को उतारा चुनाव मैदान में, जानें कारण


लोकसभा उप चुनाव के लिए आजमगढ़ संसदीय क्षेत्र से समाजवादी पार्टी ने अन्तिम दिवस धर्मेंद्र सिंह यादव को प्रत्याशी घोषित किया उन्होंने आजमगढ़ कलेक्ट्रेट पहुंच कर नामांकन किया। आज ही दिन में लखनऊ से आजमगढ़ आने के बाद पार्टी के विधायकों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे अखिलेश यादव के चचेरे भाई व बदायूं से पूर्व सांसद ने कहा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और आजमगढ़ के वरिष्ठ नेताओं ने जो फैसला लिया उसी की चलते वह यहां जनता की सेवा करने के लिए आए हैं। उनका कहना था कि इससे पहले सुशील आनंद का नाम था लेकिन कुछ टेक्निकल दिक्कत के चलते बदलना पड़ा क्योंकि भाजपा वाले पर्चा खारिज करने में माहिर है। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ ऐसी ऐतिहासिक सरजमी है जिसके बारे में चौधरी साहब कहते थे कि बागपत छोड़ सकते हैं आजमगढ़ नहीं, नेताजी का भी कहना था कि इटावा दिल है तो आजमगढ़ धड़कन, उत्तर प्रदेश में चाहे किसी की हवा हो आजमगढ़ ने हमेशा समाजवादियों का साथ दिया ताकत देने का काम किया। ऐसी सरजमी से चुनाव लड़ाने के लिए उन्होंने पार्टी के अध्यक्ष से लेकर सभी नेताओं जनता का आभार व्यक्त किया और कहा कि उनकी लड़ाई लोगों को गुमराह करने वालों झूठ बोलने वालों से है जिन्होंने बेरोजगारों से, किसानों से झूठे वादे किए, सबका साथ का नारा देकर भेदभाव किया ऐसे लोगों से लड़ाई है। चुनाव से पहले महंगाई कम होती है और बाद में बढ़ जाती है, चुनाव से पहले राशन फ्री देते हैं और बाद में समीक्षा करते हैं कि किसके घर में साइकिल है किसके घर में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी