पूर्वी यूपी सियासत में भूचाल, सुभासपा में बटवारा खास सिपाह सालार ने बनायी राष्ट्रीय समता पार्टी


राजनीति में परिवारवाद अब मंजूर नही सुभासपा अपने परिवार के हित को देख करती है काम- अध्यक्ष राष्ट्रीय समता पार्टी

प्रदेश की सियासत में अलोचक बन चुके सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर को आज जोर का झटका धीरे से तब लगा जब खास कर पूर्वांचल में सुभासपा में दो फांड़ का ऐलान उनके प्रमुख सिपाह सालार शशि प्रताप सिंह ने एक नयी पार्टी बना कर खुद को सुभासपा से अलग कर लिया है। इसलिए कहा जाता है कि सियासी खेल में कब रिस्तो में दरार पड़ जाये कब मन परिवर्तन हो जाये कहा नहीं जा सकता है। 
यहां एक बात और बताना है की जब तक सुभासपा पूरी तरह से संगठित रही पूर्वांचल की राजनीति में खासा प्रभाव वाली पार्टी बनती जा रही थी लेकिन आज इस पार्टी का एक मजबूत पिलर खिसक कर नयी राह पकड़ लिया है। 
राष्ट्रीय समता पार्टी का अधिकृत गठन करने वाले शशि प्रताप सिंह ने वाराणसी में आज दीप प्रज्ज्वलन के साथ अपने राजनैतिक दल का एलान किया और मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि राष्ट्रीय समता पार्टी का मिशन परिवारवाद के खिलाफ आवाज उठाने वाली पहली पार्टी होगी। सुभासपा को आरोपो के कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि यहां पर सर्वसमाज का भला नहीं हो सकता है। सुभसपा के नेता अपने परिवार के हित में लगे हुए है। यहां पर सभी को अपमानित किया जाता है।
वन नेसन, वन इलेक्शन, वन एजुकेशन, वन पेंसन, वन टैक्स, वन फ्लैग, वन राष्ट्र नेम, वन होम वन सर्विस इन डिफेंस की मांग करने वाली पार्टी होगी, वन होम वन मेंबर वाली पार्टी होगी, समाज के हर वर्ग को एक सूत्र में बांधकर चलने वाली  पार्टी होगी राष्ट्रवादी विचारधारा की सोच वाली पार्टी होगी, राष्ट्र प्रेम ही अटल मूलमंत्र होगा किसी भी मजहब, जाति, धर्म पर अमर्यादित भाषा का प्रयोग ना करने वाली पार्टी होगी, अपने मुद्दे और मिशन से कभी भी ना भटकने वाली पार्टी होगी, भाईचारा स्थापित करने वाली संदेशवाहक पार्टी होगी, 17 तारीख को कमेटी गठित हो जायेगी। भारत चुनाव आयोग से मान्यता प्राप्त पार्टी होगी।
राष्ट्रीय समता पार्टी के निम्नलिखित है मुद्दें गिनाये है।

1.पूर्वांचल अलग राज्य की स्थापना हो 2.किसानों को सिंचाई के लिए 7 हॉर्स पावर बिजली फ्री मिले.
2. गरीबों का दवाई एवं पढ़ाई निशुल्क हो.
3. सेना को आधुनिकता से लैस किया जाए,
4. शिक्षा का आधुनिकीकरण एवं एक समान शिक्षा अनिवार्य हो, 5.महिलाओं को सरकारी/ गैर सरकारी संस्थाओं में 50% रोजगार अनिवार्य हो,
6.युवाओं को सेना में नौकरी 04 साल से बढ़ाकर 17 साल तक किया जाए.
7. किसानों को 12000 रू सालाना से बढ़ाकर 3000 रू महीना किया जाए.
8.युवाओं को शिक्षा के आधार पर रोजगार गारंटी सुनिश्चित हो.
9. चुनाव आयोग परिवारवादी राजनैतिक पार्टीयो को परिवारवाद पर रोक के लिये कानून लाये, 10.मान्यता प्राप्त पार्टीयो के पदाधिकारियों के पद का सालाना जांच हो,
11.चार बार के विधायक सांसद को पेंसन 1 बार का ही मिले।
12. दो बार से ज्यादा एक सीट से चुनाव नही लड़ सकता उमीदवार।
13, पुलिस के जवानों को उनके घर से 100 किलोमीटर में तैनाती प्रक्रिया लागू किया जाय
14.राइट टू प्रोमिश (RTP) लागू किया जाएगा।
इस अवसर पर प्रमुख रूप से संस्थापक सदस्य शशिप्रताप सिंह, राजकुमार गुप्ता, कैप्टन राजकुमार,श्री मति वंदना सिंह, प्रकाश जायसवाल, पुर्नवासी प्रजापति,  रामगोविंद प्रजापति, जगरनाथ कुशवाहा, ठाकुर काशी सिंह, अधिवक्ता नरेंद्र उपाध्यया, संतोष प्रजापति, बिजेंद्रर पाल उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर