शिक्षकों के लिए लाभकारी रही कार्यशाला : प्रो. निर्मला एस. मौर्य

सूचना तकनीकी को अपनाएं शिक्षक : प्रो. स्वाति पालीवाल

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के आइक्यूएसी सेल द्वारा संचालित राष्ट्रीय शिक्षा नीति: कार्यान्वयन चुनौतियां एवं समावेशी समाधान विषयक कार्यशाला का रविवार को समापन हुआ।
समापन सत्र में विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर निर्मला एस मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश के क्रम में विश्वविद्यालय द्वारा सफलतापूर्वक कार्यशाला का आयोजन किया गया है। यह कार्यशाला शिक्षक और विद्यार्थियों के लिए लाभकारी रही है। कार्यशाला के माध्यम से राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर नए-नए विचार सामने आए इससे हमारे शिक्षक और विद्यार्थियों का ज्ञानवर्धन हुआ।
गुरु नानक महाविद्यालय चेन्नई के भाषा संकाय की अध्यक्ष प्रोफेसर स्वाति पालीवाल ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 के परिप्रेक्ष्य में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली की भूमिका पर विस्तार पूर्वक चर्चा की। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली आज की मांग है। सूचना प्रौद्योगिकी की बारीकियों से शिक्षकों को परिचित होना होगा और अपने व्याख्यान को ऑनलाइन माध्यम से उपलब्ध कराने के लिए निरंतर प्रयत्न करना होगा। उन्होंने कहा कि शिक्षक अपने को अपडेट करें तभी ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा दे पाएंगे। उन्होंने ऑनलाइन शिक्षा के लिए शिक्षकों को वीडियो तैयार करने के लिए भी टिप्स दिए। 


महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी के समाज कार्य विभाग के सह आचार्य डॉक्टर बंशीधर पांडेय ने भी ऑनलाइन शिक्षा के विविध पक्षों पर विस्तार पूर्वक अपनी बात रखी।
कार्यशाला की अध्यक्षता विज्ञान संकाय की प्रोफेसर वंदना राय ने की। अतिथियों का स्वागत कार्यशाला के समन्वयक अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर अजय द्विवेदी एवं धन्यवाद ज्ञापन सह संयोजक डॉ मनोज पांडेय ने किया। कार्यशाला का संचालन डॉ जान्हवी श्रीवास्तव ने किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मौसम विभाग का एलर्ट इन 23 जिलो में हवाओ के साथ होगी बरसात

दुर्गा पूजा पंडाल में लगी आग छ: की मौत 50 से अधिक झुलसे सभी बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर

खाकी वर्दी में घूम रहा नकली फर्जी, जालसाज इंस्पेक्टर गिरफ्तार, लड़क‍ियों की श‍िकायत