पूर्व विधायक के बेटे और बहू के नाम करोड़ो रूपये की जमीन कुर्क

 

वाराणसी की एक गायिका से दुष्कर्म, रिश्तेदार की संपत्ति हड़पने सहित कई मामलों में आरोपी ज्ञानपुर के पूर्व विधायक विजय मिश्र और उनके कुनबे की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं। भदोही डीएम गौरांग राठी के आदेश पर रविवार को कौलापुर में पूर्व विधायक के भतीजे और बहू की 4.34 करोड़ की अचल संपत्ति कुर्क कर ली गई। इससे संबंधित एक बोर्ड जमीन के सामने लगा दिया गया है।
गैंगस्टर एक्ट के तहत यह कार्रवाई की गई। आरोप है कि गैंग लीडर पूर्व विधायक ने डरा-धमका कर रिश्तेदार कृष्णमोहन तिवारी की संपत्ति को अपने भतीजे और बहू के नाम रजिस्ट्री करा लिया था। पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार ने बताया कि अपराधियों के खिलाफ प्रशासन लगातार सख्त कार्रवाई कर रहा है ।
बताया कि कौलापुर स्थित  कृष्णमोहन तिवारी की सात बीघा दो बिस्वा भूमि और 39 आम के बगीचे को आपराधिक तरीके से डरा-धमका कर विजय मिश्र ने अपने सगे रामजी मिश्र के पुत्र प्रकाश चंद्र मिश्र व बहू पुष्पलता के नाम रजिस्ट्री करा लिया। प्रकाश चंद्र और पुष्पलता विजय मिश्र गिरोह के सदस्य विकास मिश्र के माता-पिता हैं। दोनों जमीनों की कीमत चार करोड़ 34 लाख 40 हजार है।
भदोही एसपी ने बताया कि उक्त अचल संपत्ति को जिला मजिस्ट्रेट के आदेश अनुपालन में कार्रवाई की गई। कहा कि इसके पूर्व भी विजय मिश्र और उसके गैंग की करोड़ों की संपति कुर्क की जा चुकी है। बता दें कि विजय मिश्र चार बार के विधायक रहे हैं और इस वक्त आगरा की जेल में बंद है। आकंड़ों के मुताबिक, विजय मिश्र पर 80 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। 
बाहुबलियों पर सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है। मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद के साथ ही पूर्व विधायक विजय मिश्र की मुश्किलें कम नहीं हो रही है। गायिका से सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में आगरा जेल में बंद विजय मिश्र पर दो साल में दर्जन भर से अधिक मुकदमे दर्ज हुए। वहीं कुनबे की 25 से करोड़ से अधिक की संपत्ति अब तक कुर्क हो चुकी है।  ज्ञानपुर विधानसभा सीट से चार बार विधायक रहे विजय मिश्र की मुश्किलें साल 2020 में बढ़नी शुरू हुई। जब उनके रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी ने जमीन हड़पने का मुकदमा दर्ज कराया।                                                जिसमें पूर्व विधायक संग उनकी पत्नी रामलली, बेटा विष्णु, भतीजा मनीष सहित सात लोग शामिल रहे। पूर्व विधायक को मध्य प्रदेश के आगर से जिले की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, लेकिन एक लाख के इनामी बेटे विष्णु को कुछ माह पूर्व पुलिस ने पकड़ा। उसके बाद से वह आगरा जेल में ही निरुद्घ हैं।
पूर्व विधायक की गिरफ्तारी के बाद ताबड़तोड़ मुकदमे दर्ज हुए। जिसमें वाराणसी की गायिका से सामूहिक दुष्कर्म, कारोबारी को धमकी, ग्राम प्रधान के लेटरपैड का दुरुपयोग सहित अन्य मामले शामिल हैं। मुकदमे दर्ज होने के साथ पूर्व विधायक, पत्नी, बहू, बेटे, भतीजों की चल-अचल संपत्ति कुर्क की गई।         

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है