डीएम के निरीक्षण में अनुपस्थित मिले कर्मचारी को निलम्बित करने का दिया आदेश

जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने आज शुक्रवार को सिंचाई विभाग और नलकूप विभाग सहित अधिशासी अभियंता लघु डाल नहर आदि कारदायी संस्थाओ के विभागो का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित मिले कर्मचारियों के खिलाफ एक्शन लेते हुए जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए उनके निलम्बन का आदेश दिया है इससे सभी विभागों में हड़कंप मच गया है।
मिली खबर के अनुसार जिलाधिकारी पहले सिंचाई विभाग पहुंचे निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान खण्डीय लेखाधिकारी राम मिलन यादव अनुपस्थित मिले जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्हें निलंबित करने के निर्देश दिए। इसके बाद जिलाधिकारी नलकूप खन्ड और अधिशासी अभियंता कार्यालय लघु डाल नहर कार्यालय धमक पड़े यहां पर कर्मचारी निरीक्षण के दौरान उपस्थित मिले।निरीक्षण के दौरान कर्मचारी को अनुपस्थित मिलने पर डीएम के गुस्से का पारा चढ़ गया उन्होंने उसके खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया।
इसके साथ ही जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग में नहरों की सिल्ट सफाई के संबंध में जानकारी ली और एक्सईएन सिंचाई विपिन कुमार को निर्देशित किया कि सूची दें ताकि नहरों का सत्यापन कराया जाएगा। उन्होंने सभी कर्मचारियों को निर्देशित किया कि टेबल पर नेम प्लेट लगाएं और पुरानी फाइलों को निष्प्रयोज्य करें। कार्यालय में फाइलों का रख-रखाव ठीक नहीं मिला जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए फटकार भी लगाया। कार्यालय में फाइलों को शीघ्र व्यवस्थित करने के निर्देश दिया, जिलाधिकारी ने कार्यालयों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने को कहा।
इसके पश्चात जिलाधिकारी का काफिला नलकूप कार्यालय पहुंचा यहां पर सभी कर्मचारी उपस्थित मिले। जिलाधिकारी के द्वारा विस्तार से रजिस्टर एवं विभिन्न पत्रावलियों का अवलोकन किया गया और निर्देशित किया गया कि कार्यालय में अभिलेखों का रख-रखाव सुव्यवस्थित ढंग से किया जाए एवं कार्यालय में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए।
जिलाधिकारी ने सभी कर्मचारियों को निर्देशित किया कि अपनी टेबल पर नेम प्लेट और कार्य विवरण अवश्य अंकित कराये। कार्यालय में कर्मचारियों की संख्या अधिक पाए जाने पर अन्य कार्यालयों में अटैच करने के निर्देश दिए गए। नलकूप विभाग में कुल 556 नलकूप संचालित है जिनकी ब्लॉक वार जानकारी जिलाधिकारी द्वारा प्राप्त की गयी। जिलाधिकारी ने एक्सईएन नलकूप राणा को निर्देशित किया कि जितने भी ट्यूबवेल संचालित हैं उनके संबंध में नया नक्शा बनाया जाए और प्राइवेट ट्यूबवेल कितने हैं उसका सर्वे कराया जाए।
कार्यालय अधिशासी अभियंता लघु डाल नहर के निरीक्षण के दौरान निर्देशित किया कि जितने भी ट्यूबवेल के नालियां है उन्हें सही कराया जाए और जिन फाइलों की समय सीमा पूरी हो गई है उन्हें निष्प्रयोज्य घोषित करते हुए निस्तारण करा दिया जाए। फायर उपकरण रिफिल कराए जाने के निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिए गए और कार्यालय में स्टोर बनाए जाने हेतु चीफ इंजीनियर को पत्र प्रेषित करने के निर्देश दिए गए। इस अवसर पर एसडीओ अनिल यादव, सुधीर सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच

बिजली विभाग बड़े बकायेदारो से बिल की वसूली कराये - डीएम जौनपुर

मंत्री गिरीश चन्द यादव का अखिलेश यादव पर जबरदस्त पलटवार,दे दिया केन्द्रीय मंत्री बनाने का आफर