मैनपुरी रामपुर और खतौली उपचुनाव के लिए भाजपा में इन नामों पर मंथन, केंद्रीय नेतृत्व को भेजा गया पैनल


बीजेपी ने सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव को गढ़ में घेरने का प्‍लान तैयार कर लिया है। मैनपुरी लोकसभा और रामपुर और खतौली विधानसभा सीटों के लिए 5 दिसम्‍बर को होने वाले उपचुनाव के लिए भगवा दल ने अपने प्रत्याशी तय कर लिए हैं। पार्टी मैनपुरी और खतौली में पिछड़े और रामपुर में सामान्य वर्ग से आने वाले चेहरों पर दांव लगाएगी। इनमें शाक्य, सैनी और सक्सेना शामिल बताए जा रहे हैं। शनिवार की शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में पांच कालिदास मार्ग स्थित सीएम आवास में हुई भाजपा कोर कमेटी की बैठक में प्रत्याशियों को लेकर मंथन हुआ। तीन-तीन नामों के पैनल केंद्रीय चुनाव समिति को भेज दिए गए हैं।
मैनपुरी लोकसभा सहित तीनों सीटों पर आगामी पांच दिसंबर को मतदान होना है। भाजपा कोर कमेटी की बैठक में इन सीटों को लेकर प्रत्याशियों के नाम पर मंथन हुआ। सबसे पहले मैनपुरी लोकसभा सीट को लेकर हुई चर्चा में कई नाम शामिल थे। इनमें ममतेश शाक्य, रघुराज शाक्य, प्रेमपाल शाक्य और प्रदीप कुमार शामिल हैं। पार्टी यहां पूर्व की भांति पिछड़े वर्ग से आने वाला शाक्य प्रत्याशी उतारने की तैयारी में है। पार्टी की कोशिश यहां गैर यादव और गैर मुस्लिम मतों को सपा के खिलाफ एकजुट करने की है।
वहीं रामपुर विधानसभा सीट पर आकाश सक्सेना, अजय गुप्ता, भारत भूषण गुप्ता के नाम पर चर्चा हुई। हालांकि यहां दौड़ में आकाश सक्सेना को सबसे आगे माना जा रहा है। इसी तरह खतौली सीट के लिए भी कई नामों को लेकर चर्चा हुई। इनमें ओबीसी मोर्चा के क्षेत्रीय महामंत्री रूपेंद्र सैनी, सुधीर सैनी, प्रदीप सैनी और राजकुमारी सैनी के नाम शामिल हैं। राजकुमारी इस सीट से विधायक रहे विक्रम सैनी की पत्नी हैं, जिन्हें एमपी-एमएलए कोर्ट से सजा होने के चलते यह सीट रिक्त हुई है। यहां रूपेंद्र या राजकुमारी में से कोई प्रत्याशी हो सकता है।
बैठक में ये नेता रहे मौजूद
बैठक में मुख्यमंत्री योगी के अलावा यूपी प्रभारी राधामोहन सिंह, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौधरी और प्रदेश महामंत्री संगठन धर्मपाल सिंह मौजूद रहे। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य गुजरात दौरे पर और ब्रजेश पाठक रामपुर में होने के कारण बैठक में शामिल नहीं हो पाए।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है