शिक्षक स्व.चन्द्र प्रकाश यादव को सांसद शिक्षक पत्रकार अधिवक्ता सभी ने दी श्रद्धान्जलि



जौनपुर। सड़क दुर्घटना में दिवंगत शिक्षक एवं समाजवादी पार्टी के पूर्व छात्र नेता स्व चन्द्र प्रकाश यादव के त्रयोदशा कार्यक्रम के दिवस उनके पैतृक आवास ग्राम सभा उत्तरगावां में शोक सभा आयोजित किया गया। शोक सभा में स्व चन्द्र प्रकाश यादव के व्यक्तित्व और जीवन शैली तथा समाजिक सरोकारो को लेकर विस्तार से चर्चा करते हुए उपस्थित लोंगो ने अपनी शोक संवेदनायें व्यक्त किया।
इस अवसर पर सांसद श्याम सिंह यादव ने कहा कि अच्छे शिक्षक कभी मरते नहीं है वे तो मर कर भी अमर हो जाते है। न रहने पर भी वे समाज और बच्चो के लिए प्रेरणा श्रोत होते है। स्व चन्द्र प्रकाश अपने जीवन काल में जो भी कार्य किये उनकी एक अलग छबि रही है। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने स्व चन्द्र प्रकाश यादव को आदर्श शिक्षक बताते हुए कहा कि वे शिक्षक के साथ एक समाज सुधारक भी रहे।
श्रद्धान्जलि कार्यक्रम में मुख्य रूप से पूर्व एमएलसी लल्लन प्रसाद यादव ,पूर्व विधायक कैलाश सोनकर, जौनपुर प्रेस क्लब के जिलाध्यक्ष कपिल देव मौर्य, डाॅ. राकेश यादव, जितेन्द्र यादव, डॉ.राजबहादुर यादव, श्रवण कुमार यादव,विजय सिंह बागी, शिक्षक संघ के अध्यक्ष अरविंद शुक्ला, लोकनाथ यादव,लाल साहब यादव, लक्ष्मीकांत सिंह,सुनील यादव, देशबंधु यादवलाल, बहादुर यादव, श्याम बहादुर पाल ,अमर बहादुर,शिव प्रकाश गिरी, रत्नाकर चौबे,अनवारुल  हक गुड्डू,लालबहादुर यादव एडवोकेट, सुबाष चन्द्र यादव एडवोकेट, सुबाष सिंह प्रधानाचार्य, समर बहादुर यादव एडवोकेट,हरिशंकर यादव, आदि तमाम लोंगो ने स्व चन्द्र प्रकाश के प्रति अपनी शोक संवेदना व्यक्त किया और ईश्वर से प्रार्थना किया कि मृत आत्मा को ईश्वर अपने श्री चरणो में स्थान दें और पीड़ित परिवार को सहन करने की शक्ति प्रदान करें। आगत जनों के प्रति आभार विवेक रंजन यादव निवर्तमान प्रदेश सचिव सपा ने व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन रामदुलार यादव शिक्षक नेता ने किया।

Comments

Popular posts from this blog

हाईकोर्ट का शख्त आदेश एसपी जौनपुर एवं एसएचओ झूंसी लापता महिला को कोर्ट में करे हाजिर,जानें क्या है मामला

कांवड़ यात्रियों के लिए मुख्यमंत्री का शख्त आदेश, तो अखिलेश, मायावती का शख्त विरोध, जानें क्या है आदेश

पैतृक सम्पत्तियों को विवाद मुक्त करने के लिए जानिए क्या व्यवस्था कर रही है यूपी सरकार, नहीं लगाने होंगे तहसील के चक्कर