मोटा अनाज खाओ, बीमारियां भगाओ - जिलाधिकारी



जौनपुर। विकास भवन सभागार में बुधवार को आयोजित किसान दिवस मेंषजिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में मोटा अनाज की खेती केप्रोत्साहन हेतु एक कार्यशाला संपन्न हुई जिसमें किसानों को मोटे अनाज कीखेती का जनपद में दायरा बढ़ाने और उससे दूर होने वाली बीमारियों से प्रशिक्षित किया गया।
किसानों को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा नेकहा कि मोटे अनाज की उपयोगिता को देखते हुए 2023 को दुनिया भर में मोटा अनाज वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। आहार एवं पोषण विशेषज्ञ मोटेअनाजों की खुबियों से इतने प्रभावित है कि इन्हें सुपर फुड्स के रूप में मान्यता दे रहे है। इसकी उपयोगिता को देखते हुए सरकार ने श्री अन्न योजनाका नाम दिया है। मिलेट्स के बारे में जागरूकता बढ़े इसीलिए यह कार्यशालाआहुति की गई है, उपलब्धता कम होने से महँगा मिलते है। पौस्टिक तत्व भरपूर मात्रा में होने के कारण मोटे अनाज को एनीमिया व कुपोषण की समस्या को दूर करने में सहायक माना जा रहा हैमुख्य विकास अधिकारी साईं तेजा सीलम ने कहा कि मोटे अनाजो में फाइबर की प्रचुरता मधुमेह और मोटापे से बचाती है।
कृषि वैज्ञानिक डा0 संदीप कुमार एवं डा0 सुरेन्द्र प्रताप सोनकर ने मोटे अनाज की खेती की तकनीकी जानकारी दिया। जिला कृषि अधिकारी के0के0 सिंह ने बताया कि जनपद में मोटे अनाजों की खेती की कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है विभाग द्वारा बीज उपलब्ध कराकर जागरूक करके आच्छादन एवं उत्पादन बढ़ाया जाएगा।
संचालन उप परियोजना निदेशक डा0 रमेश चंद्र यादव ने किया।

इस मौके पर उपयुक्त मनरेगा भूपेंद्र सिंह, जिला अर्थ एवंसंख्याधिकारी आर.डी. यादव, भूमि संरक्षण अधिकारी द्वय शाशिकेश सिंह,हिमान्शु पाण्डेय, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी डा0 स्वाति पाहुजा,जिला उद्यान अधिकारी ममता सिंह यादव, किसान यूनियन के अध्यक्ष राजनाथयादव, संतोष सिंह, अमित प्रकाश, राम चन्द्र दुबे सहित अन्य अधिकारीगण और किसान मौजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?