परीक्षा और मूल्यांकन केंद्र पर अचानक पहुंचीं कुलपति


छात्रों से पूछीं समस्याएं, तत्काल पूरा कराने का निर्देश

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के परिसर की विषम सेमेस्टर परीक्षा मंगलवार से शुरू हो गई है। पहला केंद्र रज्जू भैया और दूसरा केंद्र इंजीनियरिंग संस्थान में बनाया गया है। विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने दोनों परीक्षा केंद्र और मूल्यांकन केद्र का औचक निरीक्षण किया। कुलपति की मंशा है कि परीक्षा सुचितापूर्ण हो और समय से परिणाम निकल सकें। परीक्षार्थियों की सुविधाओं को दृष्टिगत रखते हुए शुचितापूर्ण परीक्षा कराने के निर्देश दिए। परिसर स्थित रज्जू भैया संस्थान तथा संकाय भवन में बनाए गए केंद्र के केंद्राध्यक्ष डॉ. प्रमोद कुमार ने बताया की आज दोनों पालियों में कुल 850 विद्यार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। इसमें रज्जू भैया संस्थान, विज्ञान संकाय, एमबीए, एचआरडी, बीई, वित्तीय अध्ययन, व्यवसाय प्रबंध, मास काम, एप्लाइड साइकोलॉजी के छात्रों ने दोनों पालियों में परीक्षा दी। इंजीनियरिंग संस्थान के केंद्राध्यक्ष डा. मनीष प्रताप सिंह ने कहा कि दोनों पाली में सात सौ से अधिक विद्यार्थियों ने परीक्षाएं दी। सुबह की पाली में बीटेक, एमटेक और एमसीए 346 विद्यार्थियों ने और शाम की पाली में 367 विद्यार्थियों ने दी परीक्षा।
परीक्षा के दौरान आंतरिक उड़ाका दल की टोली लगातार चेकिंग पर निकल रही थी। कुलपति के साथ प्रो. अविनाश पाथर्डीकर, प्रो. देवराज सिंह, प्रो. राजेश शर्मा, डा. नीतेश जायसवाल, डा. लक्ष्मी प्रसाद मौर्य आदि थे।
इसके बाद कुलपति नवीन मूल्यांकन भवन में संचालित मूल्यांकन केंद्र एक एवं दो का निरीक्षण की। मूल्यांकन केंद्र 2 के समन्वयक डॉ. रसिकेश से मूल्यांकन की प्रगति का हाल जाना और उन्हें व्यवस्था में सुधार के लिए जरूरी उपाय करने को निर्देशित किया।

Comments

Popular posts from this blog

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सड़क चौड़ीकरण के लिए जानिए कौन कौन से मन्दिर टूटने के कगार पर ,क्या है लोक निर्माण विभाग की योजना

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा