मंत्री और जिला प्रशासन का आदेश बेअसर, जर्जर और टूटी सड़क मार्ग से महोत्सव में पहुंचने को मजबूर है लोग


जौनपुर। शहर के बीचों-बीच ऐतिहासिक शाही किला में जौनपुर महोत्सव का तीन दिवसीय कार्यक्रम का शुभारंभ हो गया है। ऐसे में शहर की टूटी सड़कों व गड्ढों के बीच से होकर लोग कार्यक्रम में पहुंच रहे हैं। उन्हें तमाम तरह की परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है। इस समय शहर के विभिन्न मार्गों पर गैस पाइप व सीवर लाइन का कार्य चल रहा है। इससे आवागमन प्रभावित हो रहा है। सड़को को गढ्ढा मुक्त करने का शख्त निर्देश कार्यदाई संस्था को दिया गया था जो पूरी तरह से बेअसर नजर आ रहा है।
बता दें नगर के ओलंदगंज चौराहा के बगल खोदे गए गड्ढे से आवागमन प्रभावित हो गया। यहां पर गैस पाइप लाइन डालने का काम चल रहा है। इसके अलावा पालीटेक्निक चौराहा पर एक हफ्ते तक गैस पाइप लाइन के लिए गड्ढा खोदकर छोड़ा गया था। वहीं सद्भावना तिराहे से जोगियापुर पुल तक सीवर लाइन के कार्य के बाद से आज तक मार्ग की मरम्मत नहीं हो सकी। वहीं कलेक्ट्रेट तिराहे से जगह-जगह सीवर के लिए खोदी गई सड़क की मरम्मत नहीं की गई। स्टेट बैंक, केनरा बैंक, इंडियन बैंक के सामने सड़क पूरी तरह से टूट गई है। वहीं सद्भावना पुल मार्ग भी कई जगह सीवर पाइप लाइन डालने के चलते टूटा है। 
जौनपुर महोत्सव कार्यक्रम शुरू होने से पहले खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार गिरीशचंद्र यादव ने महोत्सव तैयारी के बाबत जिला प्रशासन के एक बैठक में संबंधित कार्यदाई संस्था को सड़क मरम्मत करने का विशेष शख्त निर्देश दिया था। बावजूद इसके जिम्मेदारों की सेहत पर कोई असर नहीं हुआ मंत्री और जिलाधिकारी का शख्त निर्देश रद्दी की टोकरी में डाल दिया गया तभी तो संस्था की तरफ से कोई ठोस कवायद नहीं की जा रही है। हलांकि सड़क पर गढ्ढा और जमी धूल से लोगों का जीना दूभर हो गया है। आवागमन को सुचारू करने के लिए यातायात पुलिस को लगाया गया है।
खराब सड़को के चलते यातायात की समस्याओ  के बाबत यातायात के प्रभारी निरीक्षण जीडी शुक्ला से की गई बातचीत में उन्होंने जो जानकारी दी उसके अनुसार उच्चाधिकारियों के समक्ष बैठक में इस बात की चर्चा हुई थी। शख्त निर्देश दिये गये थे कि महोत्सव शुरू होने से पहले तक सड़के गढ्ढा मुक्त हो जानी चाहिए। अधिकारियों और मंत्री जी के आदेश का कितना पालन हुआ स्पष्ट दिखाई दे रहा है। कार्यदाई संस्था ने आदेश का पूरा पालन जरूरी नहीं समझा जिससे यातायात की गम्भीर समस्या बनी हुई है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर और मछलीशहर (सु) लोकसभा में जानें विधान सभा वारा मतदान का क्या रहा आंकड़ा,देखे चार्ट

मतगणना स्थल पर ईवीएम मशीन को लेकर हंगामा करने वाले दो सपाई सहित 50 के खिलाफ एफआईआर

आयोग और जिला प्रशासन के मत प्रतिशत आंकड़े में फिर मिला अन्तर