शिक्षक की गरिमा तार तार तार करने वाला युवक पहुंच गया जेल, जानिए इसके कुकृत्य की कहांनी

 
गुरू की गरिमा रद्दी की टोकरी में डाल कर एक शिक्षक ट्यूशन पढ़ाने की आड़ में घर की महिलाओं खासकर नाबालिग लड़कियों की अश्लील वीडियो बनाता था। उसे वायरल करने की धमकी देता था और शारीरिक संबंध बनाता था। महिला के इस शोषण करने के मामले में पुलिस ने एक शिक्षक को गिरफ्तार किया है। पीड़िता महिला व एक नाबालिग लड़की की शिकायत पर पुलिस ने दुष्कर्म, पास्को सहित अन्य धाराओं में चालान कर शिक्षक को सलाखों के पीछे भेज दिया। आरोपी कथित शिक्षक के मोबाइल में दर्जनों महिलाओं व नाबालिग लड़कियों की अश्लील वीडियो व फोटो मिला है। इस घटना के बाद खलबली मची है।
खबर है कि जनपद बलिया के सदर कोतवाली क्षेत्र के विजयीपुर निवासी मनीष पांडेय ट्यूशन पढ़ाने का काम करता था। इसके खिलाफ एक स्थानीय महिला ने पुलिस को तहरीर दी कि मेरी लड़की को ट्यूशन पढ़ाने के दौरान नहाते समय वीडियो बनाकर मेरे साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाया। वीडियो घर वालों को वायरल करने की धमकी देकर एटीएम से 15 लाख रुपया जबरदस्ती निकाल लिए। उसी पैसे से दो-तीन गाड़ी खरीद ली। गाड़ी की किस्त जमा करने के नाम पर हर माह 15 हजार की मांग करने लगा। न देने पर मारपीट व वायरल की धमकी देकर शोषण करने लगा। इससे परेशान होकर महिला ने कोतवाली में मनीष के खिलाफ शिकायत दी। पूरी कहानी पुलिस अधिकारियों को बता दी। इसे सुन वह हक्के बक्के रह गए। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मनीष को माल्देपुर मोड़ से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास मिले मोबाइल की जांच के दौरान दर्जनों महिलाओं व किशोरी का अश्लील वीडियो व फोटो मिला। कड़ाई से पूछताछ में मनीष ने बताया कि वह कोचिंग पढ़ाने के दौरान घर की महिलाओं के नहाते व कपड़ा बदलते चोरी छिपे वीडियो बनाकर उनके साथ शरिरीक शोषण कर उसका वीडियो बना पैसा वसूलता था। कोतवाल प्रभारी राजीव सिंह ने बताया कि पीड़ित एक महिला व नाबालिग किशोरी की शिकायत पर संबंधित धारा में मुकदमा दर्ज कर आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया, वहां से जेल भेज दिया।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल