पुलिस अजय हत्याकांड का किया खुलासा दो हत्यारे भेजे गए सलाखों के पीछे,पुलिस का दावा शेष अभियुक्त जल्द होगे गिरफ्तार


जौनपुर। जनपद के थाना जफराबाद क्षेत्र स्थित गद्दीपुर निवासी अजय मौर्य पुत्र आलोक मौर्य की सोते समय गोली मारकर हत्याकांड का अनावरण करते हुए पुलिस ने हत्याकांड में वाँछित दो अभियुक्तो को गिरफ्तार कर विधिक कार्यवाई करते हुए सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है।
इस संदर्भ में सीओ सिटी ने बताया है कि थाना जफराबाद व सर्विलांस की संयुक्त पुलिस टीम ने 11/12 नवम्बर की रात्रि को कोचिंग संचालक के हत्याकाण्ड का सफल अनावरण करते हुए 02 अभियुक्तो को किया गिरफ्तार कर उनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त 01 पिस्टल व कारतूस 32 बोर बरामद किया है। घटना को लेकर पुलिस द्वारा बताई गई कहांनी के अनुसार मृतक अजय के भाई प्रलय मौर्य के दोस्त दर्शन मौर्य की प्रेमिका के घर पर पत्थर फेंका गया था। प्रमिका के कहने पर 11/12 नवम्बर की रात्रि गिरफ्तार दोनो अभियुक्त दर्शन उर्फ अनुज मौर्या पुत्र कमलेश मौर्या निवासी गद्दीपुर थाना जफराबाद जौनपुर एवं विजय शंकर उर्फ सूरज मिश्रा पुत्र अनिल मिश्रा निवासी फरीदपुर थाना जफराबाद अपने 03 अन्य साथियों के साथ अपने प्रेमिका के घर पर पत्थर फेंके जाने का बदला लेने के लिए आरिषा कोचिंग सेन्टर के संचालक अजय मौर्य को गोली मारकर हत्या कर दिया। खबर है कि हत्यारे अजय के भाई की हत्या करने आये थे लेकिन अजय मिला और मौत के घाट उतार दिया। 
जबकि पुलिस की स्टोरी में हत्यारे धीरज मिश्रा पुत्र इन्दू प्रकाश मिश्रा निवासी गद्दीपुर थाना जफराबाद के घर पर पथराव कर आरिषा कोचिंग सेंटर की ओर भागे अजय ने हम लोगों को देख लिया तथा गाली देने लगा जिस पर इसी पिस्टल से करीब रात्रि दो बजे गोली मारकर हत्या कर दिये तथा खोखा कारतूस अपने पास रख कर भाग गये थे। 
पुलिस के अनुसार दोनो हत्यारे बाहर भागने की फिराक में थे जफराबाद पुलिस को इसकी खबर लगी तो जफराबाद की पुलिस ने सर्विलांस के जरिए अभियुक्तो को लोकेशन ट्रेस करते हुए शंकर गंज रेलवे क्रासिंग के पास दबिश देकर गद्दीपुर जाने वाले मार्ग से गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना के बाबत थाना जफराबाद में पंजीकृत मुअसं 221/23 धारा 302 भादवि के तहत जेल भेज दिया गया। गिरफ्तार दोनो अभियुक्तो ने अपना जुर्म स्वीकार किया है। पुलिस का दावा है कि इन अभियुक्तो के साथ हत्याकांड में शामिल फरार चल रहे तीन अन्य अभियुक्त गण भी जल्द ही सलाखों के पीछे भेज दिए जाएंगे। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद