पुलिस, आबकारी, ड्रग विभाग की संयुक्त टीम मादक पदार्थ बिक्री वाले स्थलो पर छापामार कर करे विधिक कार्यवाई- एडीएम


जौनपुर। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा के निर्देश के क्रम में अपर जिलाधिकारी (वि0एवं रा0) राम अक्षयबर चौहान की अध्यक्षता में राष्ट्रीय नारकोटिक्स समन्वय (एन कोर्ड) की मासिक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। उन्होंने निर्देशित किया कि जनपद में नदियों के किनारे संवेदनशील निर्जन स्थानों, घाटो पर अप्रयुक्त स्नानघरो/ निर्माणों, निष्प्रयोज्य बिल्डिंग/ फैक्ट्रियों, रेलवे/बस स्टेशनों, पान की दुकानों, मेडिकल स्टोरो सहित ऐसे स्थान जहा भी मादक पदार्थो के सेवन की संभावना हो, वहां पर पुलिस, आबकारी, ड्रग एंव खाद्य सुरक्षा विभाग सहित यथावश्यक अन्य विभागो की संयुक्त टीमों द्वारा गहन चेकिंग की जाय। यदि चेकिंग के दौरान भांग मुनक्का, पाया जाता है तो आबकारी अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही की जाय। जनपद में स्थित अस्पतालों, विद्यालयों एवं रेलवे / बस स्टेशनों के आस-पास नशीले पदार्थ युक्त गोलीयों, पान मसाला / गुटका बेचने वाली दुकानों की चेकिंग / जांच करने का निर्देश देते हुये अन्य ऐसे सार्वजनिक स्थानों जहा पर असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगने की सम्भावना होती है। वहाँ पर नियमित रूप से पुलिस पेट्रोलिंग व संयुक्त टीमों द्वारा सघन छापेमारी कर कड़ी कार्यवाही की जाय। इसके साथ ही उपर्युक्त स्थलों पर नशीले पदार्थों की बिक्री पर रोक लगाने के साथ ही जन सामान्य को जागरूक करने हेतु अभियान चलाया जाय। 


पान मसाला / गुटका / दोहरा के बडे / थोक दुकानों पर अनाधिकृत / प्रतिबंधित पदार्थों की ब्रिकी पर अंकुश लगाने हेतु पुलिस विभाग द्वारा खाद्य सुरक्षा, औषधि निरीक्षक एंव एन0सी0बी0 के सहयोग से संबधित दुकानों की जांच कराकर यथावश्यक कडी कार्यवाही सुनिश्चित किया जाय।
मादक पदार्थों की तस्करी एवं परिवहन पर अंकुश लगाने हेतु जनपद के विभिन्न राष्ट्रीय / राज्य राजमार्गो एवं संदिग्ध स्थानों पर संयुक्त टीम द्वारा चेकिंग किये जाने पर चर्चा करते हुए प्रभावी कार्य योजना बनाकर चेकिंग के निर्देश दिये गये।
साथ ही अपर जिलाधिकारी ने यह भी निर्देशित किया कि विद्यालय प्रशासन द्वारा हॉस्टल एवं डिग्री कॉलेज में समय समय पर मादक पदार्थों की तलाशी ली जाए। और जहां भी मादक पदार्थों की बिक्री अथवा उपभोग होता है वहां संयुक्त टीम बनाकर कार्यवाही की जाए। इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण, जिला विकास अधिकारी, जिला आबकारी अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।


Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद