नया रिसर्च अब हफ्ते में केवल एक गोली और शुगर का लेवल सामान्य- डा वी एस उपाध्याय

बेहतर डायबिटीज प्रबंधन के लिए इंसुलिन लेना बेहतर- डा वी एस उपाध्याय*

जौनपुर।लायन्स क्लब जौनपुर मेन द्वारा स्थान जिला अस्पताल के सभागार में डायबिटीज नियंत्रण व रोकथाम विषय पर संगोष्ठी आयोजित किया। जिसमें मुख्य अतिथि डा के के राय मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, मुख्य वक्ता वरिष्ठ ह्रदय व डायबिटीज रोग विशेषज्ञ डा वी एस उपाध्याय, विशिष्ट अतिथि दिनेश टंडन पूर्व अध्यक्ष नगर पालिका परिषद रहे। संस्थाध्यक्ष डा संदीप मौर्य ने लोगों का स्वागत किया। 
इस अवसर पर डा वी एस उपाध्याय ने विस्तार से बताया कि डायबिटीज इस वक्त किसी महामारी से कम नहीं है। खासतौर से भारत में जिस रफ्तार से इसके मामले बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए भारत को दुनिया की डायबिटिक कैपिटल कहा जाने लगा है। डायबिटीज मरीजों को शुगर नियंत्रण में रखने के लिए रोज गोली खानी पड़ती है। कई बार वह भूल भी जाते है। अब नया नुस्खा आ गया है, जो हफ्ते में केवल एक बार लेना होगा। इससे पूरे सप्ताह शुगर लेवल नियंत्रण में रहेगा। इस दवा का नाम सेमाग्लूटाइड रीबेलसुस 3, 7 व 14 एमजी की गोलियां उपलब्ध है। इसका प्रयोग करने से शुगर अच्छे ढ़ग से कंट्रोल होता है। आगे डा उपाध्याय ने कहा कि इंसुलिन एक दवा की तरह है। अगर शुगर जरूरत से ज्यादा बढ़ जाए तो इंसुलिन सबसे अच्छा और सबसे सुरक्षित विकल्प है। इंसुलिन लेने से शरीर के सभी आर्गन व उससे सम्बंधित कोशिकाएं बेहतर ढंग से काम करती हैं। शरीर स्वस्थ रहता है व लाइफ लम्बी होती हैं। इसलिए गोली से बेहतर इंसुलिन है जो शुगर प्रबंधन में अच्छा है। 
पूर्व अध्यक्ष नगर पालिका दिनेश टंडन ने कहा कि शुगर के शिकंजे में आने के बाद व्यक्ति दवाओं पर निर्भर हो जाता है, लेकिन खानपान व जीवनशैली में सुधार किया जाए तो इस बीमारी के खिलाफ अपना सुरक्षा कवच मजबूत भी किया जा सकता है।
डा सैफ खान ने कहा कि भारत में डायबिटीज की बीमारी का दायरा साल दर साल बढ़ता जा रहा है। गैर संक्रामक रोग होने के बावजूद भी जिस तरह से ये बीमारी बढ़ रही है वो खतरे का संकेत है। भारत की करीब 11 प्रतिशत आबादी डायबिटीज रोगी है व 15 प्रतिशत आबादी प्री-डायबिटीज की स्टेज में जा चुकी है। इसलिए सावधानी ज़रुरी है। 
इसके पूर्व लायन्स सदस्य डायबिटीज जागरुकता पद यात्रा स्थान आशादीप हास्पिटल अहियापुर से शुरू कर नगर भ्रमण करते हुए जिला अस्पताल तक गयें। पद यात्रा में सदस्य डायबिटीज जागरुकता के लिए बैनर व तख्ती लिए चल रहे थे तथा लोगों को डायबिटीज के प्रति जागरूक कर रहे थे। 


आभार सचिव ज़ीहशम मुफ्ती ने व्यक्त किया। संचालन सै. मो मुस्तफा ने किया। इस अवसर पर डा ओ पी सिंह, डा एस पी तिवारी, शकील अहमद, सोमेश्वर केसरवानी, संदीप गुप्ता, राम कुमार साहू, मदन गोपाल गुप्ता, राधेरमण जायसवाल, आर पी सिंह, वजीह आब्दी, सुनील अग्रहरि, अली अहमद आदि सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद