सपाई पहुंचे खेतासराय बभनौटी मृतको के प्रति व्यक्त किया शोक संवेदना, बढ़ते अपराध को लेकर सरकार पर साधा निशाना



जौनपुर। थाना खेतासराय क्षेत्र स्थित बभनौटी वार्ड के प्रजापति परिवार के दो सगे भाईयों अजय और अंकित की अकारण की गई निर्मम हत्या की घटना के बाद आज 01 दिसम्बर शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए पार्टी के निवर्तमान जिलाध्यक्ष डाॅ अवधनाथ पाल के नेतृत्व खेतासराय स्थित प्रजापति परिवार के घर गया।
मृतक दोनो युवाओ के परिवार से मिलकर संवेदना व्यक्त करते हुए परिजनों से घटना की पूरी जानकारी प्राप्त किए। इस घटना को लेकर डाॅ पाल ने प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जब से भाजपा सरकार बनी है अपराधी बेलगाम है उनको अपराध करते समय किसी प्रकार का भय नहीं रहता है। जौनपुर स्थित खेतासराय की धटना उसका जीता जागता उदाहरण है इस अत्यंत दुःखद घटना से पूरा समाजवादी परिवार दुःखी है और इस परिवार को न्याय दिलाने के लिए जो भी मदद होगी समाजवादी पार्टी करेगा। यह भी कहा कि सपा मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को इस घटना के सच से अवगत कराया जायेगा। डाॅ पाल ने कहा कि भाजपा सरकार से समाजवादी पार्टी की मांग है कि मृतक के परिवार को 50 लाख की सहायता राशि मुख्यमंत्री राहत कोष से दिया जाए। मृतक परिवार में एक बेटी बची जो बूढ़े माता पिता का देखभाल करेंगी उसे भाजपा सरकार पक्की नौकरी दें जिससे उनका जीवन यापन हो सके। जब तक सरकार मृतक को नौकरी नहीं दे रही हैं तब तक मृतक परिवार के जीवन यापन के लिए व्यवस्था देने को समाजवादी पार्टी कटिबद्ध हैं। जल्द ही मृतक परिवार को जीवन यापन के लिए वैकल्पिक व्यवस्था किया जायेगा। प्रतिनिधि मंडल में मुख्य रूप से चेयरमैन वसीम अहमद, हिरालाल विश्कर्मा, राजेन्द्र टाइगर, राहुल त्रिपाठी, अजय विश्कर्मा, मेवालाल गौतम, अनील दूबे, अखिलेश यादव, घनश्याम यादव, दीपक विश्कर्मा, जगरनाथ यादव, दिनेश गौतम, अजय प्रजापति, अर्जुन पाल सहित काफी संख्या में सपा जन मौजूद रहें ।

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र