अपहृत छात्रा को पुलिस तो नहीं खोज सकी ग्रामीण और परिजन अभियुक्त के घर से ही बरामद कराकर किया पुलिस के हवाले


जौनपुर। थाना सिकरारा क्षेत्र के एक गांव से चार दिन पहले भगाई गई छात्रा को पुलिस भले ही बरामद करने में असफल रही लेकिन शुक्रवार की भोर में ग्रामीणों ने अपनी तरकीब और सतर्कता से पकड़ कर पुलिस के हवाले किया है। घटना के बाद आरोपी युवक फरार हो गया। अब पुलिस मामले में मुकदमा दर्जकर छानबीन कर रही है।
यहां बता दे बीते आठ अप्रैल को थाना क्षेत्र के एक गांव की स्नातक प्रथम वर्ष की छात्रा कालेज पढ़ने गई थी, घर नहीं लौटी तो परिजन आस-पास खोजबीन करने के बाद थाने पर गुमशुदगी का रिपोर्ट दर्ज करा दिए। पुलिस कथित तौर पर मामले की छानबीन में जुटी थी। इसी बीच परिजनों ने थाने पर पहुंच कर जानकारी दी कि छात्रा को कालेज आते-जाते दूसरे संप्रदाय का युवक परेशान करता था। लोक लाज व भयवश वह अपने परिजनों से इसकी चर्चा नहीं की। इस आशंका पर पुलिस ने युवक के घर दबिश दी तो वह नहीं मिला, उसका मोबाइल भी बंद था। पुलिस बाजार व काॅलेज के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही थी। इसी बीच बृहस्पतिवार की देर शाम युवती के परिजनों के साथ दो दर्जन से अधिक ग्रामीण आरोपित युवक का घर घेरकर छात्रा के बारे में जानकारी ले रहे थे। इसी दौरान सूचना पर थानाध्यक्ष यजुवेंद्र कुमार सिंह मय फोर्स मौके पर पहुंच गए। ग्रामीणों को शांत कराया, इसके बाद आरोपित के परिजनों पर छात्रा को वापस कराने का दबाव बनाया।  लेकिन पुलिस छात्रा की गहन खोज बीन के बजाय इधर उधर की बात कर लौट गई, लेकिन ग्रामीण और परिजन अपने विश्वास पर अडिग रहे उन्हे विश्वास था कि युवती इसी परिवार में है। वे आरोपित के घर के आसपास रात भर पहरा देते रहे। शुक्रवार भोर में उनका संदेह सही निकला। आरोपित के परिजन नकाब पहने एक लड़की को चुपके से कहीं ले जाने की फिराक में नजर आए। पहरा दे रहे ग्रामीणों को शक हुआ। उन्होंने जब नकाब खुलवाया तो वह अपहृत छात्रा निकली जो अर्ध बेहोशी की हालात में थी। परिजनों ने सूचना देकर तत्काल पुलिस को मौके पर बुलाया और छात्रा को पुलिस के हवाले करवाया पुलिस उसे थाने ले गई और विधिक औपचारिकताएं पूरी करने के बाद छात्रा को परिजनों को सौंप दिया। इस बाबत थानाध्यक्ष यजुवेंद्र सिंह का बयान है कि पुलिस मामले में मुकदमा दर्जकर छानबीन कर विधिक कार्रवाई कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?