निर्वाचन कार्य का दायित्व निभा रहे अधिकारी अपने दायित्वो का निर्वहन गम्भीरता करे,लापरवाही बर्दाश्त नहीं- डीएम जौनपुर


जौनपुर। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी रविन्द्र कुमार माँदड़ ने कलेक्ट्रेट सभागार में लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2024 की तैयारियो की समीक्षा बैठक करते हुए सभी प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया कि लोकसभा निर्वाचन के दृष्टिगत सौंपे गए अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी तत्परता एवं गंभीरता से करें। 
निर्वाचन जैसे महत्वपूर्ण कार्य में किसी भी स्तर पर शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने निर्देशित किया कि समस्त बूथों की बिल्डिंग के बाहर एवं अन्दर वाल पेंटिंग शीघ्र पूर्ण कराया जाए और फार्म-6 के प्राप्त आवेदन को निस्तारित कराया जाए, सी-विजिल एप पर प्राप्त शिकायतों को समयावधि में निस्तारित कराएं। 
बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने कार्मिकों का डाटाबेस, समस्त बूथों पर आवश्यक सुविधाएं, निर्वाचन सामग्री, पार्टी रवानगी स्थलों पर की जाने वाली तैयारियां, कार्मिकों का प्रशिक्षण, रेंडमाइजेशन की तैयारी, कार्मिकों के बेहतर ट्रेनिंग की व्यवस्था, प्रशिक्षण ड्यूटी में लगे कार्मिकों के मतदान की व्यवस्था, मतगणना की कार्य योजना, दिव्यांग मतदाताओं हेतु बूथों पर की जाने वाली व्यवस्था, शांति व्यवस्था, नामांकन स्थलों, पार्टी रवानगी, अति संवेदनसील बूथों, 85 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं व दिव्यांग मतदाताओं को 12डी फार्म वितरित कराये जाने सहित निर्वाचन के दृष्टिगत समुचित वाहनों का प्रबंध, निर्वाचन लेखन सामग्री आदि की समीक्षा की।
उन्होंने कहा कि जिनका एपिक कार्ड खो गया है उनको बीएलओ के माध्यम से फार्म-8 उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने तहसीलदार मड़ियाहॅू को एनजीपीएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण न किये जाने पर चेतावनी जारी करने का निर्देश दिया। 
बैठक में अपर जिलाधिकारी वि/रा. राम अक्षयबर चौहान, मुख्य राजस्व अधिकारी गणेश प्रसाद, नगर मजिस्ट्रेट इन्द्रनन्दन, समस्त उपजिलाधिकारीगण, तहसीलदारगण सहित अन्य संबंधित प्रभारी अधिकारी उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?