संघर्ष मोर्चा कुलपति की जांच सहित फीस माफी को लेकर करेगा संघर्ष, बजरिए डी एम भेजा राज्यपाल को पत्रक


जौनपुर।  जनपद  के समस्त प्राइवेट एवं सरकारी   विद्यालयों व उच्च शिक्षण संस्थानों के प्रबंधन  द्वारा छात्रों पर फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है तीन महीने के लॉक डाउन के कारण छात्र अभिभावकों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। शैक्षणिक सत्र वर्ष 2020-21 के माह अप्रैल मई व जून की फीस मांफी व पुर्वांचल विश्विद्यालय में व्याप्त भ्रस्टाचार पर कुलपति के कार्यकाल की जांच कराए जाने की मांग को लेकर संघर्ष मोर्चा के सदस्यों का एक प्रतिनिधिमंडल बजरिए  जिलाधिकारी  महामहिम राज्यपाल उत्तर प्रदेश को संबोधित ज्ञापन प्रेषित किया है । 
 ज्ञापन के माध्यम से महामहिम राज्यपाल को यह अवगत कराया गया है कि कुलपति प्रोफेसर राजाराम यादव राजभवन व सरकार द्वारा अधिरोपित कर्तव्यों एवं दायित्वों का सही ढंग से निर्वहन नही कर रहे है कुलपति राजाराम यादव के कार्यकाल के दौरान विश्विद्यालय के विकास कार्य शिक्षक व कर्मचारी की नियुक्ति, वित्तीय लेनदेन तथा निर्माण कार्य मे भारी अनियमितता हुई है जिसकी जांच कराकर कार्यवाही किया जाना नितान्त आवश्यक है। 
ज्ञापन देते हुए नेता द्वय विकास तिवारी व अतुल सिंह ने संयुक्त रूप से कहा कि कुलपति जी के काले कारनामो के अलावा पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति ने कितनी बार छात्रहितों पर चर्चा हेतु बैठक की इसको भी स्पष्ट कर देना चाहिए, आखिर क्यूँ छात्रहितों से अधिक व्यक्तिगत हितों को तवज्जो दिया जा रहा है, अन्य विश्वविद्यालय के कुलपति जब छात्रों हितों पर चर्चा कर रहे है तो वही पूविवि के कुलपति नियुक्तियों की नई सम्भावनाओ को तलाशने हेतु आवास पर फाइलों में जगह ढुढ़ रहे है, छात्रों को अपराध का सपना दिखाने वाले कुलपति से मै आग्रह करता हु अगर छात्र हित से सरोकार न रह गया हो तो तत्काल इस्तीफा दे पद छोड़े, किसी भी प्रकार का भ्रम न फैलाएं। पुर्वांचल विश्विद्यालय में विगत कई वर्षों से भारी भ्रस्टाचार व अनियमितता हो रही है जिसका शासन सरकार व जनप्रतिनिधियो द्वारा अनदेखी किया जा रहा है। कुलपति गाजीपुर जनपद में आयोजित एक छात्र संगोष्ठी में छात्रों को सम्बोधित करते हुए मर्डर का गुरुज्ञान देते है। जिसपर महामहिम राज्यपाल द्वारा कुलपति को भविष्य में भाषण देते वक्त पूर्ण सजगता व संयम बरतने की हिदायत भी दी गयी थी।
संघर्ष मोर्चा के नेता दिव्यप्रकाश सिंह ने कहा कि जब पूरा देश कोरोना रूपी महामारी से संघर्ष कर रहा है जनपद में कोरोना मरीजो के लिए अस्पताल की जरूरत है, लोग अपना निजी मकान व होटल सरकार के सहायतार्थ देने हेतु तैयार है वही ऐसे समय मे कुलपति द्वारा विश्विद्यालय के खाली परिसर में L1 अस्पताल का पुरजोर विरोध किया जाना उनकी कुत्सित मानसिकता को दर्शाता है।
ज्ञापन देते समय संजय सोनकर गोपाल, रुद्रेश त्रिपाठी रुद्र, रिसभ सिंह, सोंनु यादव, अमन, अभिषेक यादव, निर्भय सिंह, अंकित यादव इत्यादि उपस्थित रहे।

                        

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र