हैरतअंगेजः लेकिन सही घटना नवजात शिशु रिपोर्ट पहले कोरोना पाजिटिव,फिर निगेटिव जाने सच क्या है



मेडिकल के लापरवाह कहिए अथवा चिकित्सकीय नाकामी का एक मामला प्रकाश में आया है जो सच में हैरतअंगेज है। जी हां     बीएचयू अस्पताल में भर्ती एक महिला की डिलिवरी के बाद जन्म लेने बच्ची की रिपोर्ट बीएचयू के लैब से पॉजिटिव बता दिया गया। परिजन एवं मां इस रिपोर्ट से परेशान हो कर कांप गये थे।बाद उसकी दो दिन में नवजात शिशु की दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आई है। खास बात यह है कि दो दिन में ही उसकी निगेटिव रिपोर्ट आने को लेकर अब परिजन भी हैरान हैं आखिर सच क्या है। उधर मां की दूसरी रिपोर्ट भी निगेटिव आ चुकी है।
यहाँ बता दे कि मूल रूप से चंदौली के सेमरा की निवासी जिस महिला की 25 मई को डिलीवरी हुई उस समय उसकी खुद की कोरोना रिपोर्ट  निगेटिव थी लेकिन जिस बच्ची को उसने जन्म दिया उसका कोरोना टेस्ट करने के लिए 25 मई को सैंपल लिया गया। आईएमएस बीएचयू के एमआरयू लैब से 26 मई को रिपोर्ट आयी जिसमें बच्ची को कोरोना पॉजिटिव बता दिया गया। इसके बाद से परिवार के सदस्य सहित अन्य लोग हैरान थे।
बीएचयू अस्पताल के स्त्री रोग विभाग में डिलीवरी के बाद भर्ती महिला के साथ ही उसकी संक्रमित बच्ची भी रह रही थी। महिला की दोबारा 27 मई को कोरोना जांच कराई गई तो उसकी रिपोर्ट भी 28 मई को निगेटिव आई है। उधर शुक्रवार को अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद परिजनों के कहने पर नवजात बच्ची का दूसरा सैंपल भी उसी लैब में जांच के लिए भेजा गया तो वो रिपोर्ट भी उसी लैब से शुक्रवार देर रात यानी 28 मई को निगेटिव आ गई। फिलहाल मां और नवजात बच्ची दोनों बिल्कुल स्वस्थ हैं।
अब यहां पर सवाल इस बात का है कि अगर नवजात शिशु को लेकर कोरोना के बाबत लैब की रिपोर्ट सही है तो आखिर जब माँ निगेटिव रही तो माँ के गर्भ में बच्ची कैसे कोरोना पाजिटिव हो गयी। दूसरा सवाल यह भी है कि क्या अब गर्भ में पल रहे शिशु भी कोरोना की जद में है जबकि माँ में इसके न हों। क्या मेडिकल साइंस इस दिशा में कभी खोज बीन किया है अथवा यह घटना बीएचयू की चिकित्सकीय लापरवाही का एक जीता जागता उदाहरण है। हालांकि यह जांच का बिषय है अब सवाल फिर है कि क्या बीएचयू प्रशासन जांच करायेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर