मच्छर जनित एवं संचारी रोगों से बचाव के लिए प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की तैयारियां शुरू - मनीष कुमार वर्मा डीएम


जौनपुर। जनपद में वर्षा जनित बीमारियों से निपटने के लिए प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग सहित नगर परिषदों की कवायत शुरू हो गयी है। इस बीमारी से निपटने के लिए जनपद के जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा द्वारा इस माह में कई बैठके करके साफ सफाई तथा दवाओं के छिड़काव आदि की समीक्षा किया गया। साथ ही निर्देश जारी किया गया कि किसी भी स्तर से कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। साथ ही सभी नगर पंचायत एवं पालिकाओं को आदेशित किया कि सभी नगर पालिकायें और पंचायते अपने क्षेत्रो में फॉगिंग करायें। 
जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायतों को निर्देशित किया है कि गांवो में सुनिश्चित करायें कि किसी भी स्तर पर जल जमाव की स्थिति न रहे। वर्षा जनित बीमारियों से बचाव के बाबत जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि शासन की गाइड लाइन का पालन करते हुए जनपद वासियों को वर्षात काल में मच्छर जनित रोगों से बचाने के लिए हर स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया मच्छर जनित बीमारी  मलेरिया, चिकनगुनिया, डेंगू से बचाव के लिए बड़ा यह है कि जनपद वासियों को सबसे पहले स्वच्छ तथा शुद्ध जल की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का प्रयास किया जा रहा है।
यहां बता दें कि अब जब कोरोना संक्रमण का प्रभाव कम हो गया है तो वर्षात होने के साथ ही मच्छर जनित बीमारियों को बढ़ने की संभावनाए प्रबल होने लगी है। अब मलेरिया, फाइलेरिया, चिकन गुनियां,  डेगू, मस्तिष्क ज्वर, जापानी इंसेफेलाइटिस जैसे संक्रामक रोगों के फैलने की बड़ी संभावनाए हो गयी है। चिकित्सा विशेषज्ञो के अनुसार इस रोग के लिए मच्छर और गंदे पानी का ठहराव प्रमुख कारण माना जा रहा है।  इसे दृष्टिगत रखते हुए प्रशासन के स्तर से यह प्रयास किया जा रहा है कि गांव से लेकर शहर एवं कस्बे तक कहीं भी जल जमाव की स्थित न रहे। इस व्यवस्था के लिये नगर पालिकाओं सहित नगर पंचायतों एवं ग्राम पंचायतों की जिम्मेदारी तय की गई है ताकि कहीं भी जल जमाव न होने पाये। 
बीते 21 जून को संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान और जनपदीय अंतर विभागीय समन्वय समिति की बैठक जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में हुई । बैठक में जिलाधिकारी ने  कहा कि 01 जुलाई से 31 जुलाई 2021 तक संचारी रोग नियंत्रण के लिए सभी विभाग अपनी पूरी तैयारी सुनिश्चित कर लें , जिससे जनपद में संचारी रोग को पूर्ण रूप से नियंत्रित किया जा सके। बरसात के मौसम में साफ- सफाई सैनिटाइजेशन का विशेष ध्यान रखा जाए और कहीं पर भी  गंदा पानी इकट्ठा होने ना दिया जाय। सभी को स्वच्छ जल पीने के लिए प्रेरित किया जाए । ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को पानी उबाल कर पीने के लिए जागरूक किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि 12 जुलाई से 25 जुलाई तक जनपद में दस्तक अभियान के अंतर्गत आंगनबाड़ी कार्यकत्री और आशा बहने प्रत्येक घर में जाकर दस्तक देगी और पता लगाएगी कि घर  किसी को खासी, क्षय रोग, कुपोषण आदि के लक्षण तो नहीं है, अगर इस तरह के लक्षण देखने को मिलते हैं तो उनका तुरन्त उपचार सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि संचारी रोग दस्तक अभियान के जागरूकता के समय कोरोना प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित किया जाए।
इसके साथ ही जिलाधिकारी श्री वर्मा ने सभी विभागों के अधिकारियों को सावधान किया है कि कोविड 19 संक्रमण का खतरा अभी गया नहीं है हां केवल प्रभाव जरूर कम हुआ है ऐसी दशा में गांव में खास कर इसकी जानकारी ग्रामीण जनों को कराते हुए उन्हें कोविड 19 के गाइड लाइन का पालन करने के लिए प्रेरित किया जाए और कड़ाई के साथ पालन कराया जाये। 
मुख्य चिकित्साधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि वर्षात के समय में संचारी रोगों से निपटने के लिए जनपद के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों को अलर्ट करते हुए दवाओं का प्रबंध करा दिया गया है साथ आशा एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के चिकित्सको के जरिए दवा गांव गांव पहुंचाने तथा ग्राम पंचायतों के जरिए जमा गन्दे जल जमाव वाले स्थानों पर दवाओं का छिड़काव कराके मच्छरों को मारने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

सीएम योगी का चुनावी वादा बिजली बिल बकाये को लेकर दिया यह आदेश

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज