व्यापारियों को लेकर सीएम के इस निर्देश का पालन प्रदेश के सभी डीएम एसपी को करने का आदेश



उत्तर प्रदेश में चुनावी वर्ष आते ही प्रदेश की सरकार अब सभी वर्गो को लुभाने वाले अभियान को चलाते हुए चुनाव मोड में अपरोक्ष रूप से आती नजर आने लगी है। तभी तो साढ़े चार साल बाद एक बार फिर सरकार को व्यापारी याद आ गये है। सीएम योगी ने व्यापारियों के हित में एक बड़ा फैसला लिया है। डीएम और एसएसपी को व्यापारियों की समस्या अब जिले में ही निपटानी होगी। महीने में एक दिन निर्धारित कर व्‍यापार मंडल उद्योग प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की जाएगी। इसमें बड़े व छोटे सभी व्‍यापारियों की समस्‍याओं की सुनवाई करते हुए त्‍वरित निस्‍तारण किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उच्चाधिकारियों को बैठक में यह निर्देश दिया।
मुख्‍यमंत्री ने कहा है कि जल्‍द इस पर अमल किया जाए। प्रदेश के व्‍यापारियों के जमीन विवाद, नए उपक्रम को चालू करने के लिए जमीन की जरूरत, कानून-व्‍यवस्‍था, अराजक तत्‍वों के मामले, बिजली, पानी, साफ सफाई के साथ उनकी सभी शिकायतों की सुनवाई की जाएगी, जिससे व्‍यापारियों को सीधे तौर पर लाभ मिलेगा। व्‍यापारियों ने योगी सरकार के इस फैसले का स्‍वागत किया है।
उत्‍तर प्रदेश कपड़ा उद्योग व्‍यापार प्रतिनिधिमंडल के प्रदेश अध्‍यक्ष अशोक मोतियानी ने कहा है कि मुख्‍यमंत्री ने व्‍यापारियों की परेशानियों पर ध्‍यान देते हुए अधिकारियों को सुनवाई के निर्देश देकर सरहानीय पहल की है। योगी सरकार ने कोरोना काल में भी व्‍यापारियों का साथ दिया और उनके साथ मुश्‍किल समय में खड़ी रही। सीएम के इस निर्णय से व्‍यापारियों का विश्‍वास बढ़ेगा। लखनऊ महानगर सर्राफा एसोसिएशन के महामंत्री राहुल गुप्‍ता ने बताया कि संवाद कार्यक्रम से सीधे तौर पर व्‍यापारियों को लाभ मिलेगा। सीएम के आदेश के बाद डीएम व एसएसपी सीधे तौर पर समस्‍याओं को निस्‍तारण करेंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर