कोरोना संक्रमण के दौरान जानें कैसे होगा मतदान,प्रशासन की क्या है तैयारी


जौनपुर। विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों के साथ ही प्रशासनिक स्तर पर तेजी से तैयारी चल रही हैं। इसी बीच कोरोना संक्रमण ने भी तेजी पकड़ लिया है। संक्रमण से बचाने के लिए मतदान केंद्रों पर विशेष व्यवस्था की जा रही है। मतदान करने के लिए स्याही लगाए जाने से पहले अंगुली सैनिटाइज की जाएगी। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही मतदान केंद्रों में प्रवेश की अनुमति होगी। मतदाता को मतदान से पहले थर्मल स्क्रीनिंग करानी होगी। इस दौरान मतदाता में बुखार के लक्षण मिले तो जांच भी कराई जाएगी। इसके अलावा हर मतदान केंद्र पर मास्क का इंतजाम होगा। बिना मास्क के किसी को भी मतदान करने की इजाजत नहीं होगी।
इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर बटन दबाने से पहले मतदाता को ग्लब्स पहनाया जाएगा। ऐसा कोरोना से सुरक्षा के लिहाज से किया जा रहा है। ग्लब्स पहनने के बाद ही ईवीएम की बटन दबाई जा सकेगी। मतदान करने के बाद ग्लब्स केंद्र के बाहर गेट पर रखे कूड़ादान में डालना होगा। इस लिहाज से लाखों ग्‍लब्‍स की जरूरत मतदान को पूरा कराने के लिए करना होगा। 
मतदान के दौरान कोविड गाइडलाइन का पालन कराया जाएगा। इसके लिए वोट देने को बूथ पर पहुंचने वाले प्रत्येक मतदान को मास्क लगाना अनिवार्य है। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने मतदाताओं से कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने की अपील की है। कहा कि कोरोना संक्रमण से इससे सुरक्षा होगी। मतदान कार्मिकों को बूस्टर डोज लगाई जा रही है, ताकि वे भी सुरक्षित रह सकें। इसके अलावा 48 -72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर रिपोर्ट भी मतदान कार्मिकों को रखनी होगी।
जिला निर्वाचन अधिकारी/ जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के अनुसार जिले के सभी मतदान केंद्रों पर कूड़ादान व हाथ धोने के लिए बाल्टी व जग की भी व्यवस्था होगी। ग्लब्स, सैनिटाइजर व मास्क का भी इंतजाम कराया जाएगा। एहतियात के तौर पर किसी भी स्तर कोई लापरवाही नहीं होगी ताकि मतदान के कार्य में कोविड 19 कोई बाधा न खड़ा कर सके। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

सरकार ने प्रदेश के इन 12 आईपीएस अधिकारियों का किया तबादला