डॉ.अपरबल का जाना हिंदी जगत की बड़ी क्षतिः कुलपति



जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कार्य परिषद के पूर्व सदस्य  डॉ. अपरबल राम यादव के निधन पर सोमवार को शोक सभा का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कुलपति सभागार में दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई।
इस अवसर पर कुलपति प्रोफ़ेसर निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि वह मेरे गुरु भाई थे, उनके निधन से हिन्दी साहित्य जगत को बहुत गहरा आघात लगा है। सबसे बड़ी बात कि उनमें मानवीय गुण ज्यादा था जिसके कारण लोग उनसे जुड़े रहना पसंद करते थे।
इस अवसर पर हिंदी के साहित्यकार डॉ. राम सुथार सिंह ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि डॉ. अपरबल राम यादव का हिंदी साहित्य के साथ भाषा विज्ञान पर भी अच्छी पकड़ थी।
इस अवसर पर प्रोफेसर मानस पांडेय, प्रो. अविनाश पाथर्डीकर, प्रोफ़ेसर अशोक श्रीवास्तव, प्रो. देवराज सिंह,डॉ मनोज मिश्र, डॉ राजकुमार, डॉ संतोष कुमार डॉ मनीष कुमार गुप्ता, डॉ सुनील कुमार, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ. रजनीश भास्कर, डॉ. मिथिलेश यादव, डॉ मंगला प्रसाद यादव, डॉ नितेश जायसवाल, डॉ पीके कौशिक आदि उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन