जीवन के अन्तिम समय तक गरीबो किसानो और नौजवानो के लिए संघर्ष रत रहे डाॅ केपी यादव- लाल बहादुर यादव


जौनपुर। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यमंत्री डॉक्टर केपी यादव  की प्रथम पुण्यतिथि सपा जिला कार्यालय पर मनाई गई। इस अवसर पर सपा कार्यकर्ताओं ने पूर्व राज्यमंत्री डॉक्टर केपी यादव के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। वक्ताओं ने उनके संघर्ष और योगदानों को याद किया।
बुधवार को सपा जिला कार्यालय में आयोजित श्रंद्धाजलि सभा कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा डॉक्टर केपी यादव आजीवन गरीबों, किसानों और नौजवानों के लिए संघर्ष करते रहे। उन्होंने सभी के साथ समानता का व्यवहार किया।
डॉक्टर केपी यादव के चित्र पर माल्यार्पण के पश्चात मल्हनी विधानसभा से विधायक लकी यादव सपा ने कहा डॉक्टर केपी यादव सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के समाजवाद से प्रेरित होकर प्रदेश की राजनीति में अपनी अलग पहचान बनाई। समाज के गरीब, पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यक, वंचित और जरूरतमंद लोगों के हक की लड़ाई सड़क से लेकर यूनिवर्सिटी कैम्पस  तक लड़ी। राजनीतिक आदर्शों व मूल्यों से कभी कोई समझौता नहीं किया। क्षेत्र व प्रदेश के हर जाति और वर्ग के विकास के लिए आजीवन संघर्ष करते रहे। वह अपनी मेहनत और सोच के धनी थे। पिछड़े , दलितों के उत्थान के लिए हमेशा संघर्ष किया।
पूर्व विधायक व प्रदेश सपा के पूर्व प्रमुख महासचिव राजनारायण विन्द ने कहा कि डॉक्टर केपी यादव गरीबों के नेता थे। समाजवाद पार्टी की लड़ाई में उनका योगदान हमेशा प्रेरणा का काम करेगा। सपा नेता दीपचंद राम ने कहा केपी यादव ने हमेशा समाज के वंचित लोगों के भलाई के लिए कार्य किया। कहा कि उनके मन में गरीब, कमजोर और पीड़ितों के लिए करुणा थी।
पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष राजबहादुर यादव ने कहा डॉक्टर केपी यादव असाधारण समाजवादी योद्धा थे।
श्रद्धांजलि सभा की अध्यक्षता पूर्व विधायक निवर्तमान जिलाध्यक्ष लाल बहादुर यादव व संचालन  हिसामुद्दीन ने किया।पूर्व मंत्री स्व डॉक्टर केपी यादव के पुत्र पूर्व सपा प्रदेश सचिव विवेक रंजन ने अतिथियों का आभार जताया।
श्रद्धांजलि सभा को पूर्व विधायक कैलाश सोनकर,राकेश मौर्य, पूनम मौर्या, रमापति यादव,राय साहब यादव,डॉक्टर ओपी यादव,डॉक्टर सुजीत यादव आदिलोगों  ने संबोधित किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर