प्रेमी-युगल की शादी परिवार नहीं किया तो अपनी हसरत पूरी कर झूल गये फंदे पर

 

प्रेमी-युगल का प्यार परवान नहीं चढ़ पाया तो उसने अपने दिल की हसरत पूरी की। प्रेमी ने प्रेमिका की को सिंदूर लगा कर लाल चूड़ी पहनाई और इसके बाद फंदा लगाकर जान दे दी। पेड़ पर शवों को लटका देख गांव में सनसनी फैल गई।
घटना कानपुर जनपद के रसूलाबाद के तारन पुरवा में घर वालों के विवाह के लिए राजी न होने व प्रेम संबंध का विरोध करने पर युवक और युवती ने पेड़ पर दुपट्टे का फंदा लगाकर जान दे दी। शनिवार सुबह उन्हें घरों पर न पाकर खोजबीन शुरू की गई तो गांव के बाहर बाग में प्रेमी युगल का शव मिला। पुलिस और फोरेंसिक टीम घटनास्थल पर जांच कर रही।
तारनपुरवा निवासी खुशीलाल की 20 वर्षीय पुत्री हुलसी देवी और पड़ोस का ही सिपाहीलाल का दिव्यांग पुत्र विनोद कुमार एक दूसरे से प्यार करते थे। घर वालों को इसकी जानकारी थी लेकिन सजातीय होने के बाद भी उनकी शादी के लिए परिवार तैयार नहीं हो रहा था।
शुक्रवार देर रात दोनों घर से निकल गए और गांव के बाहर जाकर दोनों ने दो दुप्पटे को जोड़कर एक फंदा बनाया और उसी से फांसी लगाकर जान दे दी। इधर सुबह दोनों को घर वालों ने गायब देखा तो खोजबीन शुरू हुई। ग्रामीण भी जुटे व गांव के बाहर शव मिला। इससे विनोद की मां मौलश्री, पिता सिपाही लाल, भाई गोविंद, बहन राधा व हुलसी की मां तेजवती, पिता खुशीलाल व भाई धीरज का रोकर बुरा हाल हो गया।
थाना प्रभारी रसूलाबाद अंजनी कुमार मिश्र पहुंचे व स्वजन से जानकारी ली। फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य एकत्र किए। थाना प्रभारी ने बताया कि प्रेमी युगल ने परिवार के विरोध के चलते जान दी है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर