आईएएस अधिकारी साइबर अपराध के शिकार बैंक से निकल गये 90 हजार रुपए अब पुलिस कर रही जांच


साइबर क्राइम के अपराधी कब किसे अपना शिकार बना ले यह कहना कठिन है लेकिन कानून और जिम्मेदार विभाग साइबर क्राइम अपराधियों के प्रति खास कठोरता नहीं बरत पा रही है। जी हां बिहार में मुख्य सचिव और IAS अधिकारी आमिर सुबहानी के साथ ठगी हो गई है। साइबर अपराधियों ने उनके बैंक अकाउंट से 90 हजार रुपए उड़ा लिए। चौंकाने वाली बात तो ये हैं कि ये ट्रांसजेक्शन जब हो रहे थे उस समय आमिर सुबहानी के फोन पर कोई भी ओटीपी नहीं मांगा गया। रविवार शाम को जब पैसे कटने का मैसेज आया तो आमिर सुबहानी दंग रह गए। उन्होंने फौरन पुलिस को मामले की जानकारी दी।
पुलिस के पास मामला जाते ही हड़कंप मच गया। पुलिस फौरन इस मामले को साइबर सेल के पाद भेज दिया। आमिर सुबहानी की तरफ से रविवार को अपने साथ हुए साइबर फ्रॉड की जानकारी आर्थिक अपराध इकाई के तहत चल रहे साइबर सेल को दी गई। जिसके बाद आर्थिक अपराध इकाई एक्टिव हुई। अज्ञात साइबर अपराधियों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है।


पुलिस का कहना है कि इस मामले में विशेष टीम का गठन किया गया है। टीम मामले की जांच कर रही है। बता दें कि अकाउंट से रुपयों की निकासी अवैध तरीके से हुई, वो भारतीय स्टेट बैंक में है। आर्थिक अपराधी इकाई कीी मानें तो साइबर अपराधियों ने दो बड़ी कंपनियों के वेबसाइट से ऑनलाइन शॉपिंग की थी। हजारों रुपए का सामान अमेजन से खरीदा गया। जबकि, करीब 40 हजार रुपए का सामान मोवी क्वीक से खरीदा गया। EOU की टीम ने दोनों ही कंपनियों के अधिकारियों से बात करने की कोशिश की। मोवी क्वीक की टीम से बात हुई। पूरा मामला बताया गया। जिसके बाद मोवी क्वीक ने सामान की डिलीवरी रोक दी और इस तरह से 40 हजार रुपए बचा लिए गए।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच

बिजली विभाग बड़े बकायेदारो से बिल की वसूली कराये - डीएम जौनपुर

मंत्री गिरीश चन्द यादव का अखिलेश यादव पर जबरदस्त पलटवार,दे दिया केन्द्रीय मंत्री बनाने का आफर