आखिर दवा व्यापारी राजेश शर्मा और उनका परिवार कहां गुम हो गया कि पुलिस नहीं खोज पा रही है


आगरा के ट्रांस यमुना स्थित श्रीनगर कॉलोनी निवासी दवा कारोबारी राजेश शर्मा (50) पत्नी, बेटे, बहू, बेटी और नाती सहित 15 अप्रैल से लापता हैं। परिजन अनहोनी की आशंका से चिंतित हैं। पुलिस का कहना है कि परिवार नैनीताल गया था। 23 अप्रैल को लौटकर आया। फिर निजी गाड़ी से जयपुर चला गया। होटल में रुका। इसके बाद लापता हो गए। पुलिस टीम जयपुर में गई है। तलाश की जा रही है।
मामले में राजेश शर्मा के फिरोजाबाद में रहने वाले भाई रमाकांत शर्मा ने गुमशुदगी दर्ज कराई थी। उन्होंने बताया कि भाई राजेश, पत्नी सीमा शर्मा (45), बेटे अभिषेक (25), पुत्र वधू ऊषा, बेटी काव्या (22) और एक साल के नाती विनायक के साथ नैनीताल गए थे। 23 अप्रैल को बात हुई। उन्होंने बताया कि वह बरेली पहुंच गए हैं, जल्दी घर आ जाएंगे। मगर, सुबह तक नहीं आए। मोबाइल भी स्विच ऑफ हो गए। इस पर पुलिस आयुक्त से शिकायत की। मामले में पुलिस ने जांच की। सोशल मीडिया एकाउंट खंगाले। मगर, भाई और परिवार का पता नहीं चला है। पुलिस आयुक्त डाॅ. प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि व्यापारी की तलाश की जा रही है। इसके लिए पुलिस की विशेष टीम को लगाया गया है।
थाना ट्रांस यमुना के प्रभारी निरीक्षक आनंद प्रकाश के अनुसार दवा व्यापारी पहले निजी गाड़ी से नैनीताल गए थे। 23 अप्रैल को लौटकर आए। आवास पर अपनी गाड़ी खड़ी की। रात में ही टैक्सी करके जयपुर चले गए। रात तकरीबन 3 बजे बस स्टैंड पर टैक्सी उतर गए। व्यापारी ने एक होटल में दो कमरे लिए। सुबह 11:30 बजे होटल छोड़ दिया। तब से मोबाइल बंद हैं।
हलांकि पुलिस व्यापारी के अपहरण से इन्कार कर  रही है। जांच में पता चला है कि वह अपनी मर्जी से गए हैं। मोबाइल स्विच आफ क्यों हैं? यह नहीं पता चला। होटल से निकलने के बाद कहां गए? इसका पता किया जा रहा है। जयपुर पुलिस की भी मदद ली जा रही है। एक टीम जयपुर गई है। परिवार के लापता होने पर कुछ लोग थाने पहुंचे। उन्होंने व्यापारी को अपना माल दिया था। उन्हें रकम लेनी थी। व्यापारी के लापता होने के पीछे क्या वजह है? यह पता किया जा रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?