भीषण गर्मी और तपिश के मौसम में बिजली की समस्या जानें कैसे दाद में खाज बन गयी है


जौनपुर। भीषण गर्मी और तपिश के बीच बिजली व्यवस्था का बुरा हाल है। शहर से लेकर गांव तक बिजली के लिए त्राहिमाम मचा है। कहीं पानी का संकट है तो कहीं आटा चक्की से लेकर अन्य लघु उद्योग ठप हो गए हैं। ग्रामीण इलाके में सरकार जहां 18 घंटे बिजली आपूर्ति का दावा कर रही है, वहीं पर बमुश्किल आठ से 10 घंटे बिजली मिल रही है।
पूर्वांचल के अधिकतर जिलों में बिजली आपूर्ति को लेकर हाहाकार मचा ह। ओवर लोडिंग से शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों की व्यवस्था पटरी से उतर गई है। उपभोक्ताओं को बार- बार ट्रिपिंग की समस्या से जूझना पड़ रहा है। जनपद जौनपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में छह से आठ व शहरी क्षेत्र में 15 से 20 घंटे आपूर्ति मिल पा रही है। रविवार की रात घन्टो विद्युत आपूर्ति ठप हो गयी थी। जिसके कारण शहर की आवाम तो बिलबिला उठी थी।बिजली विभाग के अधिकारी अधीक्षण अभियंता ब्रेक डाउन की समस्या बताते रहे आखिर ब्रेक डाउन के लिए जिम्मेदार कौन है।
अघोषित कटौती, ट्रिपिंग और लो-वोल्टेज की समस्या से आम जनमानस परेशान रहे। यहां शहरी इलाके में 14 तो ग्रामीण इलाके में 10 घंटे बिजली मिल रही है। जिले में अधाधुंध कटौती से विभाग का पूरा दावा हवा हवाई नजर आने लगा है। यही हाल पूरे पूर्वांचल के जनपदो का है सभी जगह पर उपभोक्ताओ को लो वोल्टेज की समस्या से जूझना पड़ रहा है। आखिर सरकार का दावा और आदेश कहां खो गया जनता भीषण गर्मी से क्यों बिलबिला रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?