उचित दर की दुकानो का औचक निरीक्षण वितरण के दौरान किया जाए- अनुज कुमार झा



जौनपुर। जिला सतर्कता समिति की बैठक में डीएम अनुज कुमार झा ने विभागीय महत्वपूर्ण बिन्दुओं यथा- प्रचलित राशनकार्डो में आधार सीडिंग की प्रगति, पात्रता सूची में सम्मिलित नये लाभार्थियो की स्थिति, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013, खाद्यान्न वितरण की स्थिति, विभागीय अधिकारियों द्वारा किये गये निरीक्षण एवं प्रवर्तन कार्यो की स्थिति, निलम्बित/रिक्त दुकानों की स्थिति, आई0जी0आर0एस0/जनसूचना की स्थिति, सिंगल स्टेज डिलीवरी के क्रियान्वयन की स्थिति, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना/आयुष्मान कार्डो की स्थिति, एम0डी0एम0/आई0सी0डी0एस0 खाद्यान्न वितरण की स्थिति की बिन्दुवार समीक्षा किया।

समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी द्वारा मा0 उच्च न्यायालय, इलाहाबाद द्वारा उचित दर दुकानों के सम्बन्ध में पारित स्थगन आदेश की पैरवी करने, रिक्त दुकानों के चयन प्रक्रिया को पूर्ण किये जाने, सिंगल स्टेज अन्तर्गत परिवहन ठेकेदारों को उचित दर दुकानों पर खाद्यान्न के उठान हेतु 06 दिवस के अन्दर कम से कम 01-01 छोटे वाहन लगाये जाने हेतु निर्देशित किया गया। खाद्यान्न वितरण में घटतौली न हो इसके लिए उचित दर दुकानों पर पर्यवेक्षणीय अधिकारियों का उत्तरदायित्व निर्धारण कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। खाद्यान्न वितरण के दौरान उचित दर दुकानों पर औचक निरीक्षण कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया।
जिलाधिकारी द्वारा दिये गये उक्त निर्देशों के अनुपालन को क्रियान्वित कराये जाने के सम्बन्ध में जिला पूर्ति अधिकारी, जौनपुर द्वारा आश्वस्त किये जाने के उपरान्त उक्त बैठक को समाप्त किया गया।


बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राम अक्षयबर चौहान, उपजिलाधिकारी सदर, केराकत, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला खाद्य विपणन अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, श्री शिवशंकर गुप्ता (सदस्य), परिवहन ठेकेदार/उनके प्रतिनिधि एवं उचित दर विक्रेता संघ के अध्यक्ष/सदस्य उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल