आग से जिन्दा जल कर काल कवलित हो गए एक परिवार के पांच सदस्य, हत्या की आशंका पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

यूपी के जनपद बरेली से दिल दहलाने देने वाली घटना सामने आई है। फरीदपुर कस्बा में एक ही परिवार के पांच लोगों की जिंदा जलकर मौत हो गई। मरने वालों में दंपती और उनके तीन मासूम बच्चे हैं। पांच लोग एक कमरे में सो रहे थे। रविवार तड़के घटना की जानकारी होने पर पुलिस बल के साथ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। बताया गया कि कमरे में बाहर से ताला लगा हुआ था। इससे हत्या की आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने जांच कर रही है। मृतकों के नाम 
1. अजय गुप्ता उर्फ टिंकल (36),2- अजय की पत्नी अनीता गुप्ता (34),3- बेटा दिव्यांश (9), 4- दिव्यंका (6),5- दक्ष (3) है।
मिली खबर के मुताबिक अजय गुप्ता उर्फ टिंकल हलवाई थे। वह अपने परिवार के साथ तीन वर्ष से फरीदपुर के मोहल्ला फर्रकपुर में रिश्तेदार के मकान में किराये पर रहते थे। शनिवार रात सभी  एक ही कमरे में सोए थे। तड़के पड़ोसियों ने घर से धुआं निकलता देखा तो पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस पहुंच गई। बताया गया कि कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था, उसमें ताला लगा हुआ था। अंदर दरवाजे में बंद करने के लिए कोई सटकनी भी नहीं थी। 
कमरे के अंदर पांचों शव जली अवस्था में पड़े थे। कमरे में रखा सारा सामान जल गया था। मंजर इतना भयावह था कि लोगों की रूह कांप गई। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सूचना मिलते ही मृतक के परिजन व रिश्तेदार पहुंच गए। हर कोई इस घटना से स्तब्ध है। 
घटना की जानकारी मिलते ही एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान समेत तमाम अधिकारी मौके पर पहुंच गए। आसपास के लोगों से जानकारी की। एसडीएम, तहसीलदार के साथ नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी डॉ नितिन कुमार गंगवार भी घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस घटना की जांच कर रही है। कमरे में गैस सिलिंडर रखा मिला है। घटना के बाद से मृतकों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। 
एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान का बयान है कि बहुत की दुःखद घटना हुई है। दंपती और उनके बच्चों की जलकर मौत हुई है। मृतकों के परिजनों ने बताया कि जब वे लोग पहुंचे तो कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। उसमें ताला लगा हुआ था। आग कैसे लगी है, हलांकि इसकी पूरी जांच कराई जा रही है। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद