प्यार का खौफनाक अंत: प्रेमिका के घर में प्रेमी को जिंदा जलाया, दो दिन बाद अस्पताल में हार गया जिंदगी की जंग


वाराणसी के चोलापुर थाना क्षेत्र के टिसौरा गांव में नववर्ष के दिन प्रेमिका के घर पहुंचे प्रेमी को परिजनों ने पेड़ में रस्सी से बांधकर जिंदा जला दिया। घटना के दो दिन बाद बुधवार को प्रेमी ने शिवपुर स्थित निजी अस्पताल में उपचार के दौरान जीवन की जंग हार गया और दम तोड़ दिया। प्रेमिका समेत अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजनों ने हंगामा करते हुए शव लेने से इंकार कर दिया। शिवपुर पुलिस ने परिजनों को समझाते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया। उधर, मां की तहरीर पर चोलापुर पुलिस ने प्रेमिका समेत सात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। प्रेमी के परिजनों का आरोप है कि मुकदमा दर्ज करने के लिए पुलिस ने 72 घंटे का समय ले लिया।
जौनपुर स्थित चंदवक थाना क्षेत्र के पतरही कोपा निवासी शुभम सेठ (26) गाजीपुर के खानपुर थाना क्षेत्र के मौधा में आभूषण की दुकान चलाता था। सारनाथ के आशापुर स्थित अकथा में भी आभूषण की दुकान का संचालन करता था। इस दौरान चोलापुर के टिसौरा निवासी युवती रितिका से प्रेम हो गया। पिछले पांच-छह वर्ष से दोनों एक दूसरे को जानते थे। इसकी भनक प्रेमिका के परिजनों को भी थी।
शुभम सेठ की मां किरन देवी के अनुसार नए वर्ष के दिन रितिका के पिता रामअवतार ने शादी की बातचीत के लिए शुभम को अपने घर बुलाया। आरोप है कि शाम को छह बजे शुभम जब टिसौरा पहुंचा तो उसे रितिका के पिता रामअवतार, चाचा अन्य परिजनों ने पेड़ में रस्सी से बांधकर पहले मारा पीटा और फिर पेट्रोल उड़ेलकर आग लगा दी।
रस्सी जलने के बाद शुभम छटपटाते हुए बाहर भागा और यह देख लोगों ने चोलापुर पुलिस को सूचना दी। 90 फीसदी झुलसे शुभम को पुलिस ने मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा में भर्ती कराया। हालत नाजुक होने पर उसे शिवपुर भरलाई स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। उपचार के दौरान सुबह सात बजे शुभम ने दम तोड़ दिया। मौत से आक्रोशित परिजनों ने शव लेने से इंकार करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। शिवपुर थाना प्रभारी रविशंकर त्रिपाठी फोर्स के साथ पहुंचे और परिजनों को समझाया बुझाया।
मां किरन देवी का आरोप है कि चोलापुर पुलिस ने आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की। बेटे ने दम तोड़ा तब आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। चोलापुर थाना प्रभारी परमहंस गुप्ता ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपी रितिका यादव, पिता रामअवतार यादव, मां राधिका देवी, चाचा रामअवध यादव, चाची वंदना, बहन नीतू यादव समेत अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जिले के पांच प्राथमिक विद्यालयो के औचक निरीक्षण में तीन विद्यालय के मास्टरो को मिली कारण बताओ नोटिस, रोका गया वेतन

स्कूल के आफिस में प्रिसिंपल और टीचर की अश्लील हरकते हुई वायरल,पुलिस क्यों है बेखबर?

परिषदीय विद्यालयो में डिजिटल उपस्थित का शिक्षको के विरोध के बीच अब सीएम योगी का दखल,जानिए जिम्मेदारो को क्या मिला आदेश