शीतलहर में बादलो की बूंदा बादी ने बढ़ाई कंपकंपी,तापमान में आयी गिरावट छाई कोहरे की चादर

जौनपुर। पूर्वी उत्तर प्रदेश में कड़ाके की ठंड के बीच अब बारिस ने कंपकंपी बढ़ा दी है। गुरुवार की सुबह पूर्वांचल में वाराणसी सहित जौनपुर भदोही, मिर्जापुर, आजमगढ़ में एक बार फिर बारिस हुई। एक घंटे तक हुई बारिस के बाद सड़कों पर सन्नाटा पसर गया। वहीं कई ग्रामीण सड़कों पर जलजमाव हो गया। जिससे लोगों को परेशानी उठानी पड़ी। 
जिले में दो दिनों से बारिस का क्रम बना हुआ है। ब़ुधवार के बाद गुरुवार की सुबह भी अचानक शुरू हुई बारिस एक घंटे तक रही। घने बादलों के बीच 10 बजे तक सूर्य भगवान के दर्शन नहीं हुए। सुबह घना कोहरा छाया रहा। कोहरा छंटते ही तेज गरज-चमक के साथ बारिश हुई। बारिश के बीच ठंड का असर भी बढ़ गया। सर्द हवाओं के बीच लोगों की कंपकंपी बढ़ गई। इससे न्यूनतम तापमान में और भी गिरावट दर्ज की गई। गुरुवार का न्यूनतम तापमान 8 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस रहा। हवा की रफ्तार भी 12 किमी प्रतिघंटा रही। मौसम विशेषज्ञ के अनुसार एक दो दिन बारिस का क्रम बना रह सकता है। बारिश के कारण लोग अलाव से चिपके रहे।
 भदोही के सुरियावां, दुर्गांंज, अभोली, चौरी, ऊंज सहित अन्य इलाकों में जलजमाव की समस्या देखी गई। जहां लोग परेशानियों से दो-चार होते नजर आए। आसमान में छाए कोहरे के बीच दूसरे दिन भी हुई बूंदाबांदी के चलते शहर से लेकर गांव तक लोग शीतलहर की चपेट में हैं। सूर्य का दर्शन न होने से लोग आग जलाकर राहत पाने में जुटे हुए हैं। प्रशासन द्वारा अभी तक क्षेत्र मे अलाव की व्यवस्था नही की गई है। जिससे लोगों में रोष व्याप्त है।
जौनपुर में सुबह हुई बारिश से बढ़ी ठंड
जौनपुर जिले में तेज हवा के साथ ठंड ने मुश्किलें बढ़ा दी है। सुबह कुछ देर हुई बारिश से ठंड ने विकराल रूप ले लिया। घरों से निकलने वाले लोग गर्म कपड़े पहनकर निकल रहे है। कोहरे की चादर लगभग आधे दिन तक पूरे वातावरण को अपनी आगोश में समेटे रखा था।
इन दिनों मौसम में लगातार बदलाव हो रहा है। जिले में दो दिन घना कोहरा छाने के बाद बुधवार की सुबह गरज के साथ बारिश शुरू हो गई। हालांकि कोहरा छटने से न्यूनतम तापमान एक डिग्री बढ़कर 13 पर पहुंच गया लेकिन ठंड लोगों को सताती रही। वहीं बारिश से गेहूं की फसल को फायदा होगा पर आलू की खेती खराब होने की संभावना है। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद