एसडीएम सुनिश्चित करे कि कहीं भी सरकारी जमीन पर कोई कब्जा न हो, अवैध कब्जे जल्द हटवायें- डीएम रविन्द्र कुमार मांदड़

जौनपुर। जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार मांदड़ ने शुक्रवार को बाद दोपहर वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के संगोष्ठी भवन में भूमि विवाद,आईजीआरएस,रियल टाइम खतौनी,सामान्य निर्वाचन लोकसभा-2024 घरौनी वितरण, वरासत आदि के संबंध में सभी एसडीएम और तहसीलदार सहित लेखपाल आदि के बैठक करते हुए अपने कार्य करने की शैली को बताया और कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप पूरी निष्ठा और इमानदारी के साथ काम किया जाये।
जिलाधिकारी ने उपस्थित सभी अधिकारियों एवं कार्मिकों से शासन की अपेक्षा के अनुरूप प्रतिबद्ध होकर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सकारात्मक सार्वजनिक प्रतिक्रिया अत्यंत महत्वपूर्ण है। आम जनमानस को अपने समाधान से संतुष्ट करें। राजस्व विभाग के तहत तहसीलों में जो भी विसंगतिया है उसे दूर करे। आपसे अपेक्षा है कि बिना किसी प्रलोभन के शुचिता के साथ कार्य किया जाए, जिससे किसी भी शिकायतकर्ता को परेशानी का सामना न करना पड़े। जहां भूमि सम्बन्धित विवाद है वहां राजस्व विभाग अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है वहां पर हमारी साझी जिम्मेदारी है कि इसके निस्तारण के कार्य को निष्पक्ष होकर करें। आय, जाति, निवास आदि प्रमाण पत्र को समयबद्ध तरीके से निर्गत करें। उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा निर्वाचन चुनाव अत्यंत महत्वपूर्ण है सभी प्रकार की तैयारियां समयबद्ध तरिके से पूर्ण कर ली जाए और बूथ संबंधी समस्या का त्वरित निस्तारण किया जाए। 
सभी उपजिलाधिकारी को निर्देशित किया कि सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे की कोई सूचना मिले तो इस पर तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित करें। यह हमारी जिम्मेदारी है कि सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे न होने पाए। उपजिलाधिकारी, तहसीलदार, लेखपाल आदि कि व्यक्तिगत जिम्मेदारी है की क्षेत्र में जाकर जटिल एवं संवेदनशील मुद्दों को समयबद्ध तरीके से निस्तारित कराए।
लेखपाल संघ के अध्यक्ष से लेखपाल की समस्याओं के संदर्भ में जानकारी प्राप्त की जिसपर बताया गया कि मछलीशहर में एसीपी पेंडिंग का मुद्दा है, जिसको त्वरित निस्तारण करने के निर्देश सम्बन्धित को दिये साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि भूमि संबंधी विवादों पर अनावश्यक मुकदमे न दर्ज किए जाएं। लेखपाल, अमीन आदि के अनियमित वेतन मिलने की जानकारी होने पर वेतन नियमित करने के निर्देश दिए। तहसीलदार और लेखपाल को संयुक्त रूप से मिलकर कार्य करने के लिए निर्देश दिए, लेखपालों के आईडी कार्ड भी जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कही पर भी संवादहीनता की स्थिति न हो। 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी साई तेजा सीलम, अपर जिलाधिकारी (वि.एवंरा.) राम अक्षयबर चौहान, मुख्य राजस्व अधिकारी गणेश प्रसाद, समस्त उपजिलाधिकारीगण, तहसीलदार व नायब तहसीलदारगण, समस्त राजस्व निरीक्षक, समस्त लेखपाल सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल