आरोग्य स्वास्थ्य मेले में 4280 मरीजों का हुआ इलाज, 497 लोगों का बना गोल्डेन कार्ड

जौनपुर। प्रदेश सरकार द्वारा संचालित आरोग्य स्वास्थ्य मेले के आयोजन में सबसे ज्यादा त्वचा के रोगी पहुंचे जबकि बड़ी संख्या में लोगों के गोल्डेन कार्ड बने। कुछ रोगियों को हायर सेंटर रेफर किया गया। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा तथा मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. राकेश कुमार ने धर्मापुर ब्लाक के रामपुर जमीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण कर लोगों को जरूरी निर्देश दिए।
मेला के नोडल अधिकारी एसीएमओ डॉ. एसपी मिश्रा ने बताया कि जिले के 76 अति प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर मुख्यमंत्री जन आरोग्य स्वास्थ्य मेला लगा। इसमें से 73 ग्रामीण और तीन शहरी क्षेत्र के थे। मेले का कुल 4280 लोगों ने लाभ उठाया। इसमें से 1522 पुरुष और 2049 महिलाएं और 709 बच्चे थे। 304 सांस के रोगी, 308 मधुमेह, 541 त्वचा रोगी, 365 पेट के रोगी, 221 हाइपर टेंशन, 136 एनीमिया, 67 लीवर, 09 टीबी संभावित, 165 गर्भवती, 45 हेपेटाइटिस, 135 नेत्र रोगियों तथा 1998 अन्य रोगोंं के मरीजों को जांच, सलाह व दवाएं मुफ्त में दी गई। इस दौरान 496 लोगों के गोल्डेन कार्ड बने और 809 का एंटीजन टेस्ट हुआ लेकिन कोई कोरोना पॉजिटिव रोगी नहीं मिला। आंख के 110, सामान्य के 06 और ईएनटी के 03 रोगी हायर सेंटर रेफर किए गए जबकि आंख की सर्जरी के 25, स्त्री रोग के 03 और अन्य के 06 रोगी भी सर्जरी के लिए हायर सेंटर रेफर किए गए।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. राकेश कुमार ने बताया कि मेले में सारी बीमारियों की जांच और इलाज की व्यवस्था थी। आयुष्मान भारत का गोल्डेन कार्ड बनाया जा रहा था। हर केंद्र पर अलग से कोविड हेल्प डेस्क बनी थी। जहां पर स्कैनर तथा पल्स आक्सीनेटर के माध्यम से कोविड-19 के लक्षण वाले तथा बिना लक्षण वाले अलग किए जा रहे थे। हर केंद्र पर शत-प्रतिशत कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराया गया। प्रत्येक रविवार को स्वास्थ्य मेले के आयोजन का प्रयास होगा कि ज्यादा से ज्यादा केंद्रों पर कैंप लगा कर लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड की सुविधा प्रदान की जाए ।
मेले में निम्न सुविधाएं मौजूद रहीं:-
• बुखार समेत मौसमी बीमारियों की जांच
• गर्भवती व बच्चों का टीकाकरण
• दवा और सभी पैथालॉजी  जांच निःशुल्क
• निःशुल्क सैनेटरी नैपकीन वितरण
• नसबंदी के लिए पंजीकरण
कोविड जाँच एवं गोल्डेन कार्ड
• क्षय रोग की जांच
• परिवार नियोजन के अस्थायी साधन का निःशुल्क वितरण
यह सुविधाएं भी रहीं मौजूद:-
• चिकित्सा व उपचार के अलावा संदर्भन की सुविधा
• गर्भावस्था, प्रसवकालीन व जन्म पंजीकरण का परामर्श
• बच्चों में डायरिया, निमोनिया रोकने के लिए परामर्श सुविधा
• मलेरिया, डेंगू, फाइलेरिया व कुष्ठ की स्क्रीनिंग
• तंबाकू और मद्यपान छोड़ने के लिए परामर्श

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक