केराकत कोतवाल और अपराधी की बात के वायरल आडियो की जांच सीओ केराकत को, परिणाम क्या होगा ?



जौनपुर। जनपद के थाना केराकत कोतवाली के कोतवाल विनय प्रकाश सिंह और जिला बदर अपराधी के बीच हुईं वार्ता के वायरल आडियो के लेकर अब जनपद मुख्यालय से लगायत केराकत सर्किल सहित पूरे पुलिस महाकमा में खासा हंगामा बरपा रखा है। हलांकि वायरल आडियो के सच का पता लगाने के लिए पुलिस विभाग के अधिकारी ने इसे लेकर जांच बैठा दिया है और जांच अधिकारी सीओ केराकत को नामित किया गया है। 
वायरल आडियो में पंचायत चुनाव के पहले जिलाधिकारी ने शिकायत के आधार पर पी के यादव नाम के एक अपराधी व्यक्ति को जिला बदर घोषित कर दिया ताकि पंचायत के चुनाव में कोई घटना न हो सके। मतदान के एक दिन पहले कोतवाल केराकत विनय प्रकाश सिंह जिला बदर अपराधी को फोन कर उसे सावधान कर रहे हैं कि पुलिस छापा मारी करने वाली है सादी वर्दी में तलाश कर रही है जिला छोड़ कर चले जायें इतना तक आडियो में बात हुई है कि आप हमारे भाई हो हम आपको सावधान कर रहे हैं। जिला छोड़ कर जाने वाले स्थान पर भी चर्चा किया गया है। 

कोतवाल का यह भी कहना है कि आप वोट नहीं दे सकते है पीठा सीन अधिकारी को बता दिया गया है इसलिए बूथ पर मत जाईयेगा नहीं तो पुलिस गिरफ्तार कर लेगी।आदि तमाम बातें हो रही है। ऐसा वीडियो वायरल होने के बाद विभाग में हंगामा मच गया। इस संदर्भ में अपर पुलिस अधीक्षक सिटी ने वीडियो के जरिए बयान जारी कर कहा है कि वायरल आडियो के सच को सामने लाने के लिए जांच का आदेश जारी किया गया है जांच अधिकारी सीओ केराकत को नामित किया गया है। हलांकि यहां पर एक मुहावरा जरूर चरितार्थ होगा कि  तोही राजा तोही चोर ,तोही लेहला भांटा तोर तोही आया पंचायत में भूजा खाया घरे गया, यानी मामला  टांय टांय फिस, केराकत कोतवाल का मामला जांच कर्ता सीओ केराकत अब परिणाम क्या होगा अनुमान लगाया जा सकता है। 






टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

महज 20 रूपये के लिए रेलवे से लड़ा 22 साल मुकदमा और जीता,जानें क्या है मामला