माता विन्ध्यवासिनी के दर्शन पूजन आज से शुरू, करना होगा कोविड गाइड लाइन का पालन



कोरोना संक्रमण को लेकर लाक डाउन के चलते 51 दिन के बाद मां विंध्यवासिनी मंदिर का कपाट आज एक जून से आम श्रद्धालुओं के लिए खुल गया है। मंगला आरती और शृंगार के बाद सुबह सात बजे दर्शन व पूजन का दौर शुरू हो गया जो शाम सात बजे तक चलता रहेगा।  चैत्र नवरात्र के पंचमी तिथि से मां विंध्यवसिनी का कपाट कोरोना कर्फ्यू के चलते बंद कर दिया गया था।  
शासन से जारी गाइड लाइन के बाद मां श्री विंध्यवासिनी पंडा समाज की तरफ से पूर्व संध्या पर दर्शन व पूजन की तैयारियां पूरी कर ली गईं थी। माता दरबार परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए गोला बनाया गया है। श्री विंध्य पंडा समाज की ओर से मंदिर पर पुरोहितों की ड्यूटी लगाकर एक बार में पांच लोगों के प्रवेश की व्यवस्था बनाई गई है।
इसके पहले श्रद्धालु पहुंच रहे थे पर वे सीढ़ियों पर ही माला फूल चढ़ाकर या पताका दर्शन कर लौट जा रहे थे। संक्रमण की पहली लहर के दौरान भी लंबे समय तक मंदिर बंद था।  श्री विंध्य पंडा समाज के अध्यक्ष  पंकज द्विवेदी ने कहा कि  सरकार के गाइडलाइन का पालन कराते हुए भक्तों को मां विंध्यवासिनी का दर्शन-पूजन कराया जाएगा। बिना मास्क के किसी को भी मंदिर के अंदर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर