नकली सोना गिरवी रख कर ठगों ने जानें कैसे बैंक से उड़ा दिये 85 लाख रुपए


ठग सरकारी अथवा गैर सरकारी नहीं देखते है बस मौके की तलाश में रहते है जहां जुगाड़ भिड़ा लाखों का वारा न्यारा कर देते है। ऐसे ही एक ठगी के खेल का खुलासा वाराणसी पुलिस ने किया है नकली सोना गिरवी रख कर बैंक को 85 लाख का चूना लगा दिया हलांकि अब ठग सलाखों के पीछे पहुंच गये है। 
 मिली खबर के अनुसार बनारस से एक घटना सामने आई है। बैंक में नकली सोना रखकर लोन लेने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। पुलिस ने ठगी करने वाले दस लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार ठगों में तीन महिलाएं भी शामिल हैं। पूरा मामला मंडुवाडीह स्थित कैनरा बैंक से जुड़ा है, जहां ठगों ने बैंक में नकली सोना गिरवी रखकर 85 लाख रूपये का लोन हासिल कर लिया था। बता दें कि एडीसीपी वरुणा प्रबल प्रताप सिंह के अनुसार पूरे खेल का मास्टर माइंड रविन्द्र सेठ है। उसने अपने दो साथियों के साथ मिलकर बैंक से लोन लेने का प्लान बनाया। प्लान के अनुसार तीनों ने ऐसे लोगों को शिकार बनाया,जिनका खाता कैनरा बैंक में था। रविंद्र ने लोगों को बताया कि वह बैंक में सोने का मूल्यांकन करता है। उसने लोगों को लालच दिया। इसके मुताबिक खाताधारकों के कागजात इस्तेमाल के बदले लोन का कुछ परसेंट देने का वादा किया गया। 
रविन्द्र ने खाता धारकों की मदद से नकली सोना बैंक में गिरवी रखा और 85 लाख रूपये लोन बैंक से हासिल कर लिया। इस बीच ज़ब बैंक की ओर से सोने का वैल्यूशन हुआ तो मामला सामने आ गया। बैंक की ओर से मंडुवाडीह और कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया। इस बीच पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दस अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। जबकि एक अभियुक्त ने कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया। आशंका जताई जा रहीं है ठगी के इस रैकेट में कुछ अन्य लोग भी शामिल हो सकते हैं। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जाँच कर रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन