गौस सिलेंडर का दाम बढ़ने पर अखिलेश का तंज, उज्वला की जगह इसका नाम करें बुझव्वला, रसोई की आग बुझायेगी महंगाई


आगामी विधानसभा चुनाव-2022 के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। पिछले चार सालों से शांत बैठी प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 'केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार' की नीतियों पर सवाल करने शुरू कर दिए हैं। रसोई गैस के सिलेंडर के मूल्य में 25 रूपये की बढ़ोतरी हुई। जिसके बाद, समाजवादी पार्टी, बसपा व कांग्रेस ने सवाल उठाने शुरू कर दिए। लेकिन, इनमें सबसे ज्यादा गौर फरमाने वाली बात अखिलेश यादव की थी। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सिलेंडर के दामों में हुई बढ़ोतरी के बाद मोदी सरकार पर तंज कसा। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि "उज्ज्वला योजना का नाम बदलकर 'बुझव्वला योजना' कर देना चाहिए।" साथ ही, उन्होंने कहा कि "रसोई गैस के दाम 25 रुपया और बढ़ाकर भाजपा सरकार ने आम लोगों के घरों के चूल्हे 'बुझा' दिये हैं।"
 इससे पहले भी अखिलेश यादव ने विधानसभा सत्र के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सोने पर भी तंज कसा था। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि ''ये आरोप निराधार है कि 'माननीय' सदन में निद्रा में लीन थे। सच तो ये है कि वो इस चिंतन में लीन थे कि उनके समय में प्रदेश की जो दुर्दशा हुई है और उसके कारण जनता में जो असीमित आक्रोश है, उसका सामना कैसे किया जाए और अगले चुनाव में प्रत्याशी कहाँ से लाये जाएं।"
 पूर्व मुख्यमंत्री ने मथुरा और गोरखपुर में हुई लूट के बाद प्रदेश की कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि ''मथुरा में दिनदहाड़े करोड़ों की और गोरखपुर में लाखों की लूट ने एनकाउंटरवाली भाजपा सरकार के समय ध्वस्त हो चुकी 'क़ानून-व्यवस्था' की क़लई खोलकर रख दी है।'' अखिलेश यादव ने कहा था कि 'लगता है यूपी में अपराधियों ने भाजपा सरकार का ही एनकाउंटर कर दिया है।' 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम