पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर पर रंगदारी मांगने का आरोप,पुलिस जांच में जुटी


पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर के खिलाफ एक बिल्डर ने पुलिस कमिशनर वाराणसी से लिखित शिकायत कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। शिकायत कर्ता सूबे के वराणसी जनपद का रहने वाला है और उसका नाम विकास सिंह है। वह नीलगिरि इंफ्रासिटी कम्पनी का डायरेक्टर है। शिकायतकर्ता विकास सिंह ने पुलिस कमिशनर वाराणसी को दिए एक शिकायती पत्र में बताया है कि वो एक बिल्डर है। उसने अपने व्यवसाय के लिये जरूरत पड़ने पर कुछ लोगों से ब्याज पर धन लिया था। जिनका समय से उधार लिया धन वापस भी कर रहा है।उसने अपने शिकायती पत्र में बताया है कि जिन लोगों से उसका लेनदेन है, उन लोगों को अमिताभ ठाकुर नामक शख्स ने अपनी तरफ मिला लिया है अब अमिताभ ठाकुर नामक शख्स मुझसे 50 लाख रुपये रंगदारी के रूप में मांग रहे है। 
अमिताभ ठाकुर नामक शख्स अपने को पूर्व आईजी बताते हैं और प्रार्थी को धमका रहे हैं कि यदि तुम 50 लाख रुपये नहीं दोगे तो तुम्हे झूठे मुकद्दमों में फंसवा दिया जाएगा। क्या है शिकायकर्ता का आरोप? शिकायतकर्ता बिल्डर विकास सिंह ने पुलिस कमिशनर वाराणसी को दिये अपने शिकायती पत्र में बताया कि गत 26 जुलाई को कुछ नामजद दबंग उसके वाराणसी कार्यालय में आकर उसके साथ मारपीट कर धमकाने लगे कि अगर 50 लाख रुपये न दिये तो तुम्हें जान से मार दिया जाएगा। जब मैंने थाना चेतगंज पुलिस को कॉल करके बुलाया तब नामजद दबंग मेरे ऑफिस से धमकाते हुए फरार हो गए। 
शिकायत कर्ता विकास सिंह ने बताया है कि वाराणसी के थाना चेतगंज में उसके द्वारा दी गयी एफ आई आर तो नहीं लिखी गई है लेकिन पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के दवाब में उसके खिलाफ मुकद्दमा उसे उसके कार्यालय में धमकाने आये दबंगो में से एक दबंग ने दर्ज करवा दिया है।उसने पुलिस कमिश्नर वाराणसी से मांग की है कि मुझे से 50 लाख की रंगदारी मांग रहे पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर व उसके ऑफिस में 50 लाख रुपये लेने लिये धमकाने आये नामजद लोगों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज किया जाये।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत