कानून के डर से बेखौफ बदमाशों ने चौकी पर चढ़कर दरोगा को पीट दिया,फिर भी प्रदेश में जानें कैसे कानून का राज



उत्तर प्रदेश की सरकार कानून के राज का लगातार दावा कर रही है लेकिन सच ठीक इसके विपरीत नजर आ रहा है। दबंगो अपराधियों के हैसले इतने बुलंद है कि थाना पुलिस चौकी पर चढ़कर पुलिस जनों पर हमला करने में जरा भी डर नहीं महसूस करते है। ताजा मामला जनपद आगरा का सामने आया है यहां पर पुलिस भी सुरक्षित नहीं दिखाई देती जबकि पुलिस द्वारा बड़े ही वायदे किए जाते है। वहीं पुलिस का नारा भी है कि "आगरा पुलिस आपकी सेवा में तत्पर"। लेकिन पुलिस कितनी तत्पर है ये वायरल वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है। जहां कुछ युवक चौकी को अपने बाप की प्रॉपर्टी समझ कर नंगा नाच कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ आगरा पुलिस का कहना है कि उसको इस मामले की जानकारी तक नहीं है। बता दें कि आज एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसके आधार पर थाना जगदीश पूरा की चौकी अवधपुरी पर कुछ युवक पुलिस चौकी को अपना घर समझ कुछ भी कर रहे हैं। वहीं एक युवक चौकी इंचार्ज की टेबल पर पैर रखकर वीडियो भी वनबा रहा है। लेकिन चौकी पर कोई भी उसे रोकता नजर नहीं आ रहा है। 
थाना प्रभारी ने ये कहा जब संबंधित थाना प्रभारी के सरकारी नंबर पर उक्त मामले में फोन किया गया तो उन्होंने फोन काट दिया। लेकिन दुबारा फोन रिसीव कर जानकारी दी कि चौकी पर उस समय कोई नहीं था। इस कारण कुछ युवक अंदर चले गए और वीडियो वायरल कर दिया। वीडियो के आधार पर युवकों की पहचान की जा रही है। उसके बाद जांच कर कार्यवाही की जायेगी। उठ रहे सवाल जिस आगरा पुलिस पर शहर की जनता भरोसा करती है। जब वही पुलिस अपनी चौकियों पर सुरक्षित नहीं है तो आगरा की जनता का क्या होगा। थाना प्रभारी के अनुसार चौकी पर कोई नहीं था जिस कारण ऐसा हो गया । मामले की जांच कर युवकों की तलाश की जा रही है। 
आखिर क्यों नहीं थी चौकी पर किसी सिपाही की तैनाती क्या आगरा पुलिस थाना, चौकी को भगवान भरोसे छोड़ सकती है ऐसा नहीं होगा। थाना प्रभारी शायद ये छुपाने की कोशिश में है कि उस समय ड्यूटी पर कौन था। जबकि न ही थाना और न ही चौकी को बिना किसी सिपाही की नजर किए कोई नहीं छोड़ सकता। अगर फिर भी कोई पुलिस कर्मी उस समय चौकी की पहरेदारी पर नहीं था तो ताला क्यो नहीं लगाया गया। 
चौकी के इंचार्ज सूत्रों के अनुसार अवधपुरी चौकी के इंचार्ज योगेंद्र को दोस्ती का शौक है। कुछ समय पहले भी थाना हरीपर्वत पर तैनाती के दौरान उनकी बुलेट बाइक लेकर एक किशोर घूमता नजर आता था। इस पुलिस चौकी पर भी कई युवक उनके गहरे दोस्त है। जिनको मुखबिरी और क्षेत्र की जानकारी करने के लिए दरोगा इनका इस्तेमाल करता था। वहीं सूत्रों के अनुसार उक्त चौकी इंचार्ज ने खंदारी चौकी पर तैनाती के दौरान एक वारंटी को सिकंदरा क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। जबकि उसकी मौत हो गई थी। वहीं इलाज के दौरान युवक को इमरजेंसी में छोड़ भाग गए थे। जबकि उक्त मामले में क्लीन चीट भी मिल चुकी है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार

मारपीट की घटना को विधायक एवं उनके समर्थको पर लूट तक का मुकदमा हुआ दर्ज