विश्वविद्यालय की गरिमा को दूषित न करें- प्राचार्य मेजर डॉ0 सत्येन्द्र प्रताप सिंह


जौनपुर ।  सहकारी पी0जी0 कॉलेज मिहरावां में  आज प्राचार्य मेजर डॉ0 सत्येन्द्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में एक बैठक हुई जिसमें विश्वविद्यालय में  कुछ स्वार्थी तत्वों द्वारा भ्रामक समाचार फैलाया जा रहा है। जिसमें मूल्यांकन को लेकर कुलपति एवं परीक्षा नियंत्रक की भूमिका पर प्रश्न चिन्ह लगाया जा रहा है जबकि परीक्षा की शुचिता एवं पवित्रता पर कुलपति प्रोफेसर निर्मला  एस0 मौर्य किसी भी तरह का कोई भी समझौता का प्रश्न ही नहीं है जब से विश्वविद्यालय में कुलपति के रूप में पदभार ग्रहण किया है विश्वविद्यालय की गरिमा पर किसी भी प्रकार की आंच नहीं आने दिया हैं। कुछ स्वार्थी तत्व जो हमेशा अपने लाभ के लिए विश्वविद्यालय के इर्द-गिर्द चक्कर लगाते रहते हैं स्वार्थ सिद्धि ना होने के कारण मिथ्या आरोप लगा रहे हैं विश्वविद्यालय में मूल्यांकन कार्य हेतु जिन भी प्राध्यापकों की ड्यूटी लगाई गई है उनका कार्य कभी भी संदेहास्पद नहीं रहा है । बैठक में परीक्षाफल में कुछ तकनीकी त्रुटि विगत वर्षों में  होती रही हैं जिसे विश्वविद्यालय समय-समय पर ठीक करता रहा है कुछ स्वार्थी लोगों द्वारा विश्वविद्यालय की गरिमा को परीक्षा फल के माध्यम से दूषित करने के प्रयास की घोर भर्त्सना तथा विश्वविद्यालय की कुलपति ,कुलसचिव , परीक्षा नियंत्रक एवं समस्त सहायक कुलसचिवो द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की गई, बैठक में महाविद्यालय के प्राचार्य जी के साथ समस्त प्राध्यापक उपस्थित रहे तथा प्राचार्य के प्रयासों की सराहना करते हुए उनके हम-कदम होने का संकल्प लिया ,जिसमें डॉ0 राज बहादुर यादव डॉ0 अरविंद कुमार सिंह डॉ0 नितेश कुमार यादव डॉ0 विकास सिंह डॉ0 शिव प्रताप सिंह डॉ0 तारकेश्वर सिंह डॉ0 रविकांत सिंह डॉ0 योगेंद्र प्रताप सिंह डॉ0 श्याम नारायण सिंह डॉ0 बृजेश कुमार श्रीवास्तव श्री सूरज कुमार गुप्ता एवं श्री नीरज कुमार सिंह पुस्तकालय अध्यक्ष उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

थाने में खड़ी गाड़ियां दीवान ने कबाड़ी को बेचीं, एसपी ने किया निलंबित, कबाड़ी भी गिरफ्तार

आइए जानते है मुन्ना बजरंगी के भाई को पुलिस ने क्यों किया गिरफ्तार